खगड़िया, 14 जुलाई, 2020 । अंगिका आरू हिंदी  के वरिष्ठ साहित्यकार श्री कैलाश झा किंकर जी के काल रात 8 बजे निधन भ गेलै । हुनकौ असामयिक निधन सँ अंग देश के हिन्दी आरू अंगिका भाषा के साहित्यकारौ के बीच शोक के लहर व्याप्त होय गेलौ छै । हमेशा खुशमिजाज आरू जीवंत भाव से जियै वाला किंकर जी हमेशा अंगिका व हिन्दी भाषा  के विकास लेली तत्पर रहै छेलै । साहित्यिक समुदाय आरू हुनका जानै वाला क ई बात प पतियाना मुश्किल होय रहलौ छै कि हुनकौ निधन होय गेलौ छै ।

हिन्दी भाषा साहित्य परिषद् खगड़िया केरौ महासचिव -सह- कौशिकी हिन्दी पत्रिका के सम्पादक श्री कैलाश झा किंकर जी कोरोना सँ संक्रमित होय गेलौ छेलै आरू इलाज के क्रम मँ  खगड़िया स्थित कोविड केरौ एगो आइसोलेशन सेंटर मँ भर्ती छेलै । करीबी सूत्रौ के अनुसार हुनी लगभग ठीक होय क कल अस्पताल सँ घर लौटै वाला छेलै । हुनी कल दिन भर उपवास-व्रत प छेलै । साँझै हुनका बेचैनी महसूस हुअय लागलै ।  हुनी बाथरूम सँ आबी क बेड प पटैलै आरू फेरू हमेशा लेली चिर निद्रा मँ चल्लौ गेलै । हुनी 58 साल के छेलै ।

kailash-Jha-Kinkar
कैलाश झा किंकर

अंगिका.कॉम परिवार अंगिका के अमर योद्धा अंग सपूत कैलाश झा किंकर केरौ लोकांतरण प हुनका हार्दिक श्रद्दांजलि अर्पित करै छै । किंकर जी हमेशा ही अपना सब के बीच जिंदा रही क अंग देश आरू अंगिका के सेवा लेली प्रेरणा के स्त्रोत बनलौ रहतै । हुनको असामयिक जाना पीड़ादायक छै । पतियाना मुश्किल छै । अंगिका भाषा केरौ सबसँ मजगूत स्तंभ मँ स एक किंकर जी के कमी हमेशा ही खलतै रहतै ।  भगवान हुनको आत्मा क शांति प्रदान करय । हुनकौ परिवार के सदस्य सब क ऐन्हौ कष्ट के घड़ी मँ भगवान संबल प्रदान करय , यहै प्रार्थना छै ।

बिहार केरौ खगड़िया जिला अन्तर्गत सकरपुरा लगाँकरौ हरिपुर गाँव के मूल निवासी दिवंगत अंगिका साहित्यकार, श्री कैलाश झा किंकर जी केरौ जन्म 12 जनवरी 1962ई. क बिहार केरौ बेगूसराय जिला के पड़रा गाँव स्थित आपनौ नानी के यहाँ होलौ रहै । हुनकौ बाबू पं0 श्री दीनानाथ झा आरू माय श्रीमती राम ज्योति देवी छेलै ।  हुनी आपनौ पीछू आपनौ पत्नी संध्या कुमारी आरू तीन सुपुत्र शंकरानंद, शशि शेखर आरू सुमन शेखर सहित पोता आदित्य आनंद क छोड़ी गेलै।

पेशा सँ एगो शिक्षक श्री किंकर जी के शिक्षा एम0ए0एल0 बी0 तक होलौ रहै । हुनी हिन्दी आरू अंगिका मँ  दर्जन भर किताब लिखनै छेलै । साथ ही कात्यायनी (अंगिका द्विमासिक) व कौशिकी (हिन्दी त्रैमासिक) पत्रिका के सफल संपादन भी करलकै । 18 वर्ष तलक अधिवेशन व कवि सम्मेलन आयोजित करी करी क खगड़िया के नाँव सम्पूर्ण देश मँ साहित्यिक भूमि के रूप मँ स्थापित करलकै। ई अधिवेशनौ मँ देश केरौ विभिन्न क्षेत्रौ के साहित्यकार सिनी क सम्मानित करतें रहलै ।

कैलाश झा किंकर केरौ लोकांतरण प हुनका हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करै वाला अंगिका आरू हिन्दी साहित्यकारौ के एगो लंबा फेहरिस्त छै । जेकरा मँ शामिल छै –  सुधीर कुमार प्रोग्रामर, श्रीनिवास उपाध्याय, अनिरूद्ध प्रसाद विमल, राहुल शिवाय, डॉ. अमरेंद्र,  कुंदन अमिताभ, शचीन्द्र त्रिवेदी, अर्पणा अंजन, गौतम सुमन, अंशुमाला झा, पारस कुंज, प्रीतम कुमार विश्वकर्मा, देवेन्द्र सौरभ, विप्लव चौधरी, मिथिलेश सिंह, तुषार कांत, अश्विनी प्रजावंशी, अरूण कुमार सिंह, त्रिलोकीनाथ दिवाकर, वी.जे.गाँधी, भानु मंडल जी, विकास मुंगेर, वंदना झा,विशाल आनंद, संजय चौधरी, भावानंद सिंह, हरून रसीद गफिल, आनंद मोहन झा, डॉ. भावना, सकलदेव शर्मा, प्रणन प्रसून, अनिल कुमार झा, आनंद कुमार सिंह, मंजित सिंह किनवार, विजय पुष्पम, सच्चिदानंद पाठक, कुमार विजय गुप्त, शिवनंदन सलील, हेंत दास हिम, शैलेश प्रजापति शैल, अंजू दास गीतांजलि, राकेश कुमार रौशन, शंहशाह आलम, शशिधर मेहता, रंजना सिंह, अंजनी कुमार सुमन, मुरारी मिश्रा, मंजुला उपाध्याय, विजय कुमार, शंकर कैमुरी, अन्नपुर्णा श्रीवास्तव, विनोद आजाद,  शशि आनंद अलबेला, मनीष कुमार गुंज, कवि राजकुमार, मृदुला शुक्ला, दीक्षित धनकौरी, संजय कुमार सिंह, कुमारी अर्चना, नरेश कात्यायन, रमेश आत्मविश्वास, सिनीवाली शर्मा, चंद्रेश्वर, सरिता मंडल,  साहित्य कला संसद-बिहार, अंगिका संवाद, विनय कुमार सिंह, राम चंद्र घोष, शंभुनाथ मिस्त्री, नवीन निकुंज, घनश्याम, विभा रानी, रंजन कुमार, रमाकांत निगम, पंकज कुमार वसंत, हेमा महस्के, मुकेश कुमार यादव, प्रकाश सूना, नंदलाल यादव, शिव कुमार सिव, प्रसून लतांत, कुणाल अश्विनी, बिमलेंदु कुमार सिंह, नीतू गुप्ता, पंखुरी सिंहा, शतजल मंजरी, पवन कुमार सिंह, डॉ. मनोज मीता, नवीन चंद्र ठाकुर, शंभु मनहार, दयानंद जयसवाल, काश्मीरा सिंह, बी.एन.विश्वकर्मा, संजय झा मस्तान, रवि शंकर साह, ध्रुव गुप्त, सलाम उद्दीन, सुजाता चौधरी, रामावतार राही, डॉ. योगेन्द्र, हरनाम सिंह वर्मा, रूपम झा, लता परासर, कुसुमाकर दूबे, पूल कुमार अकेला, ध्रुव कुमार, दिनेश तपन, विनोद अनुपम, डॉ. गोरख प्र. मस्ताना, गुरूनंदन कुमार, राजेन्द्र प्र. सिंह, रूपेश चौधरी, संजीव कुमार सुमन, धीरज पंडित, बिकास कुमार, ओमप्रकाश संबे, राजकुमार मिश्रा, राम बहादुर चौधरी चंदन, बबलू शांडिल्य, राजेश जैन, प्रभात गुप्ता, ब्रह्मदेव बंधु, सिद्धेश्वर कश्यप, नितप्रिय प्रलय, कुंदन वशिष्ठ आरनि ।

 

 

दैनिक जागरण | वेब संस्करण-1

दैनिक जागरण | वेब संस्करण-2

पहलौ बार प्रकाशित : 14/7/2020

अंतिम संपादन : 15/7/2020

 

Comments are closed.

error: Content is protected !!