Post Tagged with: "hira prasad harendra"

राजगीर महोत्सव केरऽ हास्य कवि सम्मेलन म॑ अंगिका हास्य-व्यंग्य कविता प॑ ठठाय क॑ हँसतें रहलै श्रोतागण

राजगीर महोत्सव केरऽ हास्य कवि सम्मेलन म॑ अंगिका हास्य-व्यंग्य कविता प॑ ठठाय क॑ हँसतें रहलै श्रोतागण

राजगीर । बिहार केरऽ प्रसिद्ध तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय राजगीर महोत्सव राजगीर महोत्सव -२०१७ केरऽ अंतिम दिन २९ नवंबर क॑ हास्य व्यंग्य केरऽ महफिल सजलै । राज्य केरऽ विभिन्न जिला सें ऐलऽ लोकप्रिय व जनश्रुत कवि, उपस्थित श्रोता सिनी क॑ अपनऽ रचना सब सें लोटपोट करलकै ।  अंगिका, हिंदी आरू उर्दू के अलावा भोजपुरी,बज्जिका,मगही,आरू मैथिली केरऽ प्रसिद्ध कवि ई कार्यक्रम में भाग लेलकै । सुल्तानगंज सें ऐलऽ अंगिका केरऽ हास्य कवि हीरा प्रसाद हरेंद्र , आरू मुंगेर स॑ ऐलऽ अंगिका केरऽ हास्य कवि श्री विजेता मुद्गलपुरी  केरऽ अंगिका कविता प॑ दर्शक ठठाय क॑ हँसतें रहलै । अपनऽ प्रसिद्ध कविता ‘छरपन कक्का’ क॑ सुनाय क॑ मुंगेर केरऽ प्रसिद्ध कवि विजेता मुद्गलपुरी न॑ वर्तमान परीक्षा प्रणाली पर करारा व्यंग्य करलकै । उर्दू शायर बेनाम गिलानी न॑ भी अपनऽ कविता सें सब क॑ खूब हँसैलकै। नालंदा केरऽ हास्यकवि रंजीत दुघु न॑ भी अपनऽ कविता सें सब क हंसाय-हंसाय क॑ लोट-पोट करी देलकै । भोजपुरी शायर चम्पारण निवासी गोरख मस्ताना न॑  देश केरऽ… Read More

अंतर्राष्ट्रीय राजगीर महोत्सव भेलै प्रारंभ, राज्य स्तरीय हास्य कवि सम्मेलन में काल होतै अंगिका कविद्वय हीरा प्रसाद हरेंद्र आरू  विजेता मुद्गलपुरी केरऽ अंगिका कविता पाठ

अंतर्राष्ट्रीय राजगीर महोत्सव भेलै प्रारंभ, राज्य स्तरीय हास्य कवि सम्मेलन में काल होतै अंगिका कविद्वय हीरा प्रसाद हरेंद्र आरू विजेता मुद्गलपुरी केरऽ अंगिका कविता पाठ

राजगीर । बिहार केरऽ प्रसिद्ध तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय राजगीर महोत्सव कल २७ नवंबर क॑ प्रारंभ भ॑ गेलै, जे २९ नवंबर तलक चलतै । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार न॑ दीप प्रज्वलित करी क॑ एकरऽ उद्घाटन करलकै ।  अंतर्राष्ट्रीय राजगीर महोत्सव केरऽ राज्य स्तरीय हास्य कवि सम्मेलन में काल हिंदी,अंगिका,बज्जिका,भोजपुरी,मैथिली,मगही,उर्दू के कवि सब के समागम होतै । अंगिका कवि श्री हीरा प्रसाद हरेंद्र आरू श्री विजेता मुद्गलपुरी केरऽ अंगिका हास्य कविता पाठ, कार्यक्रम केरऽ मुख्य आकर्षण होतै । पहलें ई महोत्सव २५ सें २७ नवंबर तलक अजातशत्रु किला मैदान में  आयोजित होय वाला रहै । लेकिन आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) केरऽ सभा स्थल प॑ आपत्ति के कारण नया सभा स्थल क॑ कन्वेंशन हॉल में शिफ्ट करलऽ गेलै । ई वजह सें तारीख में परिवर्तन करलऽ गेलै । अतने नै महोत्सव में बिहार केरऽ लोक कला व संस्कृति केरऽ समागम क॑ देखै के मौका पर्यटकऽ सब क॑ मिली रहलऽ छै । पूर्व सें चललऽ आबी रहलऽ परंपरागत ग्राम श्रीमेला, कृषि… Read More

error: Content is protected !!