14 hours ago
मुख्यमंत्री नँ अररिया, किशनगंज, सहरसा, सुपौल,  पूर्णिया आरू कटिहार जिला केरौ बूहो प्रभावित इलाका के करलकै हवाई सर्वेक्षण | News in Angika | CM nitish Kumar conducted aerial survey of flood affected areas of Araria, Kishanganj and Katihar of Ang Pradesh
2 days ago
फाइनल मैच आरू सुपर ओवर टाय होला के बाद न्यूजीलैंड क हराय क इंगलैंड क्रिकेट विश्व चैंपियन | World Cup Final: NZ vs ENG | News in Angika Language | England is new Cricket World Cup Champion
7 days ago
जों समय सीमा 11 बजी क 5 मिनट क पार करी जैतै त काल न्यूजीलैंड के टीम आजको स्कोर सँ आगे खेलना शुरू करतै | विश्व कप क्रिकेट- २०१९ | IND vs NZ 1st Semifinal| World Cup Cricket – 2019
1 week ago
अंक तालिका मँ सबसँ उपर भारत, न्यूजीलैंड सँ भिड़तै सेमीफाइनल मँ | विश्व कप क्रिकेट- २०१९ | India topped the table after just one loss and a washed-out game | World Cup Cricket – 2019
1 week ago
अंगिका भाषा मँ काँवरिया क देलौ जैतै जानकारी | सुलतानगंज श्रावणी मेला – २०१९ | Information shall be delivered to Kanwaria in Angika language | Sultanganj Shravani Festival

Post Tagged with: "तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय"

सरकार केरऽ अनुमति के बगैर ही चली रहलऽ छै तिलकामाँझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ अंगिका विभाग !

सरकार केरऽ अनुमति के बगैर ही चली रहलऽ छै तिलकामाँझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ अंगिका विभाग !

Read this News in English /  इस समाचार को हिंदी में पढ़ें  / ई समाचार क॑ अंगिका म॑ पढ़ऽ भागलपुर । बिहार सरकार केरऽ अनुमति के बगैर ही तिलकामाँझी भागलपुर केरऽ अंगिका विभाग चली रहलऽ छै ! ई कहना छेकै बिहार अंगिका अकादमी केरऽ अध्यक्ष, डॉ. (प्रो.) लखनलाल सिंह आरोही केरऽ । डॉ. आरोही न॑ अपनऽ फेसबुक https://www.facebook.com/drlakhanlall.arohi पर लिखल॑ छै कि पी. जी. अंगिका विभाग, भागलपुर केरऽ बंद होय के संभावना के खबर सें अंगिकाभाषी चिंतित होय उठलऽ छै । हुनी अंगिका विभाग केरऽ विभागाध्यक्ष व समन्वयक प्रो. मधुसूदन झा क॑ अंगिका विभाग केरऽ ई नियति केरऽ वजह बतलैल॑ छै । बिहार अंगिका अकादमी केरऽ अध्यक्ष के अनुसार सरकार सें अंगिका विभाग क॑ चलाबै के अनुमति, विभाग लेली प्रोफेसर व कर्मचारी लेली सृजित पदऽ के स्वीकृति आरू कोर्स के स्वीकृति प्राप्त नै होलऽ छै । उनकऽ अनुसार कुलाधिपति सें खाली कोर्स केरऽ स्वीकृति प्राप्त छै । बिहार अंगिका अकादमी के अध्यक्ष  न॑ आरोप लगैतें हुअ॑… Read More

तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय म॑ आंतरिक प्रशासनिक कमेटी केरऽ गठन

तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय म॑ आंतरिक प्रशासनिक कमेटी केरऽ गठन

भागलपुर। तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ कुलपति डॉ. नलिनी कांत झा न॑ शुक्रवार क॑ आंतरिक प्रशासनिक कमेटी केरऽ गठन करल॑ छै । कमेटी केरऽ अध्यक्ष कुलपति होतै । कमेटी म॑ सदस्य के रूप म॑ रजिस्ट्रार, विकास पदाधिकारी, एफओ, डॉ. क्षमेंद्र कुमार सिंह, डॉ. निहाल, प्रो. पवन कुमार पौद्दार, डॉ. बसंत झा आरू डॉ. योगेंद्र क॑ शामिल करलऽ गेलऽ छै । ई कमिटी विवि म॑ होय वाला आतंरिक कार्य क॑ पूरा करै म॑ कोनो तरह के परेशानी होला प॑ एकरऽ समाधान तलाशै के काम करतै । कर्मचारियऽ व अधिकारियऽ के बीच परस्पर संवाद कायम करतै जेकरा स॑ यहांकरऽ कार्य सुचारू रूप स॑ चल॑ सक॑ । ई बीच तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय स॑ जुड़लऽ एगो आरू खबर आबी रहलऽ छै कि एकरऽ अंगीभूत कॉलेजऽ म॑ कार्यरत स्थायी प्राचार्य अब॑ ६२ वर्ष म॑ ही सेवानिवृत होय जैतै । ई आशय केरऽ पत्र सरकार केरऽ अपर सचिव न॑ विश्वविद्यालय केरऽ कुलसचिव क॑ भेजल॑ छै । विवि प्रशासन अब॑ एकरऽ हार्ड कॉपी… Read More

प्राध्यापकऽ के कमी दूर होला के बादे तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ व्यावसायिक आरू स्नातक कोर्स ल॑ नया सत्र म॑ नामांकन होतै

प्राध्यापकऽ के कमी दूर होला के बादे तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ व्यावसायिक आरू स्नातक कोर्स ल॑ नया सत्र म॑ नामांकन होतै

भागलपुर। प्राध्यापकऽ के कमी के चलतं॑ तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय  न॑ व्यावसायिक आरू स्नातक कोर्स लेली नया सत्र म॑ नामांकन प॑ रोक लगाय देन॑ छै ।  तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ कुलपति, डॉ. नलिनी कांत झा केरऽ अनुसार शिक्षकऽ के कमी छै । छात्र सिनी क॑ बेहतर शिक्षा नय दिअ॑ पारी रहलऽ छियै । नयऽ सत्र म॑ नामांकन तभिये लेलऽ जैतै जब॑ शिक्षकऽ के कमी दूर होय जैतै । विश्वविद्यालय म॑ अनेकों व्यावसायिक कोर्स के पढ़ाई लेली प्राध्यापकऽ के कमी छै । कोर्ट न॑ विवि के संविदा प॑ नियुक्ति करै प॑ रोक लगाय रखल॑ छै । वहीं विवि लगातार राजभवन स॑ प्राध्यापकऽ के मांग करी रहलऽ छै । लेकिन पर्याप्त संख्या म॑ विवि क॑ प्राध्यापक नै मिल॑ पारी रहलऽ छै । ई वजह स॑ समस्या बढ़ी गेलऽ छै । विवि म॑ कईएक कोर्स के पढ़ाय त॑ बरसों स॑ चली रहलऽ छै, लेकिन कहिय्यो पर्याप्त शिक्षक नै नियुक्त करलऽ गेलै । विवि म॑ पत्रकारिता विभाग, पुस्तकालय, मैथिली समेत… Read More

error: Content is protected !!