2 months ago
COVID-19 : बाहर सँ लानलौ तरकारी व समान के उपयोग के सुरक्षित तरीका की छेकै ?
3 months ago
अंगिका भाषा क संविधान केरौ ८मो अनुसूची आरू बिहार केरौ दोसरौ राज्यभाषा के श्रेणी मँ शामिल करबाबै ल मुख्यमंत्री, विधि मंत्री सँ माँग
3 months ago
जनगणना मँ अपनौ नामौ सथें मातृभाषा के कॉलम मँ अंगिका जरूर दर्ज करैइयै : अंगिका निवेदन पत्र, नेपाली गीत गोष्ठी
3 months ago
अंगिका क संविधान केरौ ८मो अनुसूची मँ डलबाबै आरू बिहार केरौ दोसरौ राजभाषा के रूपौ मँ मान्यता दिलाबै तलक जारी रहतै संघर्ष – प्रीतम विश्वकर्मा कवियाठ
3 months ago
अंगिका क संविधान केरौ ८ मो अनुसूची मँ आरू बिहार केरौ दोसरौ राज्यभाषा के श्रेणी मँ सूचीबद्ध करबाबै लेली नेपाली गीत-गोष्ठी आयोजित करतै कार्यक्रम

भागलपुर । २४ जून, २०१९ ।यात्री केरौ सुभित्ता वास्तें अंगिका भाषा मँ जनउद्घोषणा कराय ल भागलपुर स्टेशन प्रबंधक सँ निवेदन करलौ गेलौ छै ।

अखिल भारतीय अंगिका साहित्य कला मंच नँ दर्जन भर सँ जादे वरिष्ठ अंगिका भाषा साहित्यकार सिनी के दस्तखत के साथ सौंपलौ आपनौ निवेदन पत्र मँ कहलै छै कि करोड़ों लोगौ के भाषा अंगिका क जनसूचना  के भाषा बनैला सँ लोगो क खूब्बे सुभित्ता होतै । साथे-साथ भाषा के संरक्षण भी होतै ।

अंगिका भाषा क उद्घोषणा मँ शामिल करै वास्तें स्टेशन प्रबंधक सँ करलौ गेलौ निवेदन

निवेदन पत्र मँ कहलौ गेलौ छै कि पाँच करोड़ सँ भी जादै लोगो के भाषा क जनसूचना के भाषा बनैला सँ लोगो क अखनी अंग्रेजी मँ देलो जाय रहलौ सूचना सँ होय वाला परेशानी सँ निजात मिलतै । कहलौ गेलौ छै कि देश केरौ कईएक प्रदेशो मँ स्थानीय लोकभाषा मँ सूचना के प्रसारण के व्यवस्था छै ।

निवेदन पत्र मँ दस्तखत करै वाला मँ सर्वश्री सुधीर कुमार प्रोग्रामर, साथी सुरेश सूर्य, डॉ. आत्मविश्वास,  महेंद्र प्रसाद निशाकर, त्रिलोकीनाथ दिवाकर, अवध बिहारी आचार्य, प्रीतम विश्वकर्मा, कुमार प्रभाश, देवकांत, डॉ. प्रदीप प्रभात, फूल कुमार अकेला,सच्चिदानंद किरण, भवानीपुरी आरनि शामिल छै ।

 

Comments are closed.

error: Content is protected !!