भागलपुर: नेपाल केरॊ हालत बहुत जादा नाजुक छै. सरकारी आँकङा , अनुमान आरू आशंका सॆं कहीं खूब बेसी. एक लाख सॆ भी जादा लोग काल केरॊ गाल मॆं समाय गेलॊ छै. जान-माल केरॊ भारी नुकसान होलॊ छै.  वहाँकरॊ पर्यटन उद्योग पूरा तरह सॆं ध्वस्त होय गेलॊ छै आरू वहाँकरॊ अर्थ-व्यवस्था के रीढ़ टूटी गेलॊ छै. इ कहना छै, अंग उत्थानान्दोलन समिति (अंगुआस) केरॊ केन्द्रीय अध्यक्ष, गौतम सुमन के.

गौतम सुमन

नेपाल मॆं मानव जागृति व राहत साम्रगी वितरण केरॊ बाद नेपाल केरॊ दशा-दु्र्दशा बतैतॆं समिति के अध्यक्ष गौतम सुमन

गौतम सुमन हाल मॆं ही नेपाल मॆं भूकंप प्रभावित लोगॊ के बीच राहत – साम्रगी के वितरण करी कॆ भारत लौटलॊ छै. हुनी अंग उत्थानान्दोलन समिति केरॊ बिहार आरू झारखंड केरॊ एकैस जनॊ के एगॊ टीम सथॆं 10 मई कॆ नेपाल रवाना होलॊ रहै. काफी कठिनाई आरू प्रशासनिक जाँचोपरांत हुनका सीनी  काठमांडू सॆं 100 किलोमीटर दूर उदयपुर आरू सिन्थुपाल चौक केरॊ भूकंप पीड़ितॊ तलक पहुँचॆ पारलै.  अंग उत्थानान्दोलन समिति तरफ सॆं भूकंप पीड़ितॊ आरू जरूरतमंदॊ के बीच चूङा, गुङ, सत्तू, बच्चा केरॊ कपङा – लत्ता, भागलपुरी चादर, धोती, तिरपाल, मोमबत्ती, मंजन, साबुन आदि राहत - साम्रगी केरॊ वितरण करलॊ गेलै.

श्री सुमन के कहना छेै कि नेपालवासी भारत सरकार के त्वरित सहयोग के प्रति आभार प्रकट करतॆं नजर ऐलै . हुनका अनुसार भारत सरकार आरू प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा तत्परता के साथ शुरू करलॊ गेलॊ राहत आरू बचाव कार्य मानवीय संवेदना केरॊ  उत्कृष्ट उदाहरण छेकै, जेकरा सॆं भारत केरॊ पारम्परिक प्रतिष्ठा बहाल होलॊ छै.

Nepal Earthquake

Nepal Earthquake

श्री गौतम सुमन नॆ लोगॊ आरू संगठनॊ के आह्वान करनॆ छै कि पङोसी के दुक्खॊ आरू मुसीबत केरॊ इ घङी मॆं आगू आबी करी कॆ भूकंप पीड़ितॊ आरू जरूरतमंदॊ के हर संभव सहायता करॊ – यहॆ सच्चा धर्म छेकै.

गौतम सुमन केरॊ नेतृत्व मॆं पुर्णिया, अररिया, फारबिसगंज, जोगबनी केरॊ रास्ता नेपाल पहुँची कॆ भूकंप पीड़ितॊ आरू जरूरतमंदॊ के बीच राहत - साम्रगी केरॊ वितरण करै वाला इ एकैस सदस्यीय टीम, भर रास्ता पर्यावरण कॆ सँवारी कॆ राखै के जागरूकता भी फैलैनॆ गेलै. हिनी लोगॊ सीनी कॆ बतलैलकै कि  प्राकृतिक संसाधनॊ के दुरूपयोग बंद करी कॆ प्रकृति सथॆं छेङ-छाङ नै करना आरू आपनॊ जिंदगी कॆ पर्यावरण कॆ रक्षा करै मॆं बिताना ही सचमुच कॆ मानव धर्म छेकै.

Comments are closed.