भागलपुर : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार केरऽ मित्र उदयकांत मिश्रा के पुत्री के बीहा लेली अनूठा मंडप बनैलऽ गेलऽ छै । मंडप क॑ अंग जनपद की लोक कलाकृति मंजूषा स॑ सजैलऽ गेलऽ छै ।  ई मंडप मं॑ मंजूषा के जोन डिजाइन आरो रंग के इस्तेमाल करलऽ गेलऽ छै , वू नववधु क॑ सदा सुहागन होय के, प्रेम, समृद्धि व विकास के सनेस द॑ रहलऽ छै ।

मंडप स॑ ल॑ करी क॑ वरमाला मंच मं॑ उकेरलऽ मंजूषा
मंजूषा गुरु मनोज पंडित के निर्देशन मं॑ अंग क्राफ्ट आरो मंजूषा कला प्रशिक्षण केंद्र केरऽ रत्ना सिन्हा, सुमना सागर, सुचिता शरद, सुजीत, अमन, रवींद्र पंडित, वकील पंडित समेत 30 कलाकारऽ न॑ मंडप, कोहवर आरो वरमाला मंच क॑ मंजूषा स॑ सजैन॑ छै । मनोज पंडित केरऽ अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के इच्छा रहै कि लोक कला आरो परंपरा प॑ आधारित मंडप बन॑ ।
108 मंजूषा कलश आरो नौ खंभा स॑ सजलऽ मंडप
ई मंडप नौ खंभा प॑ खड़ा छै, जे 108 मंजूषा कलश स॑ सजैलऽ गेलऽ छै । एकरा मं॑ कहार, माली, कुम्हार क॑ अपनऽ-अपनऽ काम करतं॑ देखैलऽ गेलऽ छै । मंजूषा कला क॑ सजाबै लेली प्राथमिक रंग हरा, गुलाबी आरो पीला के प्रयोग करलऽ गेलऽ छै ।
डीएम, एसडीओ व अन्य पदाधिकारी न॑ करलकै मंडप के सराहना
ई मंडप क॑ देखै लेली डीएम, एसडीओ समेत आरो प्रशासनिक पदाधिकारी सिनी ऐलै, जिनी खूब सराहना करलकै. मंजूषा के प्रारुप क॑ देखी क॑ कहलकै कि ई कला त॑ यहांकरऽ लोककला छेकै लेकिन पहलऽ बार एकरा पर आधारित कोनो मंडप देखै ल॑ मिली रहलऽ छै ।

Comments are closed.