वाशिंगटन : मंगल ग्रह केरऽ चारों तरफ जों चुंबकीय ढाल बनाय देलऽ जाय त॑ वहाँ मानव सहित आरू जीव-जंतु लेली जीवन संभव होय जैतै । ऐसनऽ अभूतपूर्व विचार नासा केरऽ वैज्ञानिक जेम्स ग्रीन न॑ देल॑ छै । हुनी वाशिंगटन मं॑ हाल मं॑ आयोजित ‘प्लैनेटरी साइंस विजन-२०५०’ मं॑ नासा केरऽ प्लैनेटरी साइंस डिवीजन केरऽ डायरेक्टर केरऽ हौसियत सं॑ बोली रहलऽ छेलै ।

हुनकऽ कहना छै कि जों मंगल आरू सूरज केरऽ बीच स्थाई ऑरबिट मं॑ एगो चुंबकीय ढाल लाँच करलऽ जाय त॑ एकरा स॑ उच्च उर्जा युक्त सौर किरण सं॑ ग्रह केरऽ ध्रवीय क्षेत्र मं॑ उपलब्ध बर्फ क॑ पिघलाय क॑ प्रचुर मात्रा मं॑ पानी पैदा करलऽ जाब॑ सकै छै। मानलऽ जाय छै कि सदियों पहले मंगल प॑ पानी छेलै आरू जीवन भी ।

मंगल ग्रह दन्न॑ पहलऽ सफल उड़ान १४-१५ जुलाई १९६५ क॑ नासा द्वारा भेजलऽ गेलऽ मेरिनर ४ छेलै । १४ नवम्बर १९७१ क॑ मेरिनर ९, पहलऽ ऐसनऽ अंतरिक्ष यान बनलै जे कि कोनो अन्य ग्रह केरऽ परिक्रमा लेली मंगल केरऽ चारों ओर केरऽ कक्षा मं॑ प्रवेश करलकै ।

Comments are closed.