ऐली सौतिन करऽ सिंगार | अंगिका कहावत

ऐली सौतिन करऽ सिंगार

अर्थ –  एक स्त्री के रहते  पुरूष द्वारा शादी कर दूसरी स्त्री के ले आने पर पहली स्त्री के श्रृंगार करने का व्यर्थ हो जाना ।