छो दाँत के ढिंगना बाछा | अंगिका कहावत

छो दाँत के ढिंगना बाछा

अर्थ –  वयस्क, हट्टा-कट्टा किंतु कद में नाटा ।