इन घर नींद चान घर चोरी | अंगिका कहावत

  इन घर नींद चान घर चोरी जम घर मरन राज घर भोगी

अर्थ – इऩ – इन्द्र, चान – चाँद, जम – यम, राज – राजा  ।