कन्नी गाय के भिन्ने बथान | अंगिका कहावत

  कन्नी गाय के भिन्ने बथान

अर्थ –  ईर्ष्यालु तथा दुष्ट प्रकृति के लोगों का कारबार भिन्न प्रकार का ही होता है ।

गाय कानी है इसलिये उसका बथान (वत्सस्थान) भिन्न है ।