भागलपुर। अंगिका महोत्सव २०१९ केरऽ अंतिम दिन सर्वसम्मति स॑ आठ महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित करी क॑ अंगिका विकास लेली आगू के रणनीति तय करलऽ गेलै । भागलपुर विवि केरऽ डीएसडब्ल्यू डॉ. योगेंद्र न॑ प्रस्ताव पढ़लकै आरू प्रशाल म॑ उपस्थित अंगिका साहित्यकार, कलाकार, अंगिका प्रेमी सिनी न॑ सर्वसम्मति स॑ पास करलकै ।

1.अंगिका भाषा क॑ संविधान केरऽ आठमऽ अनुसूची म॑ सम्मिलित कराबै लेली हर स्तर प॑ हर संभव प्रयास करलऽ जाय आरू एकरा लेली जुझारू व सक्षम व्यक्ति सिनी के एगो ऐसनऽ सशक्त कमेटी बनैलऽ जाय जे ई विषय म॑ मैथिली के अधिकारी आरू दुष्चक्र क॑ तोड़तें हुअ॑ अंगिका क॑ ओकरऽ वाजिब अधिकार दिलाबै आरू आठमऽ अनुसूची म॑ शामिल होय के मार्ग प्रशस्त कर॑ सक॑ ।

2. ई महोत्सव सर्वसम्मति स॑ बिहार सरकार स॑ ई माँग करै छै कि प्राथमिक स्तर स॑ इंटरमीडिएट आरू उच्च शिक्षा तलक अंगिका भाषा म॑ पठन-पाठन के व्यवस्था सुनिश्चित कर॑ ।

3. ई महोत्सव सर्वसम्मति स॑ अंगिका क्षेत्र केरऽ २६ जिला केरऽ विभिन्न जिलाधिकारियऽ स॑ ई माँग करै छै, कि संबंधित जिला सब के राजपत्र (गजट) म॑ मैथिली वाला सब के दुष्चक्र स॑ अंगिका भाषा केरऽ स्थान प॑ जे ‘मैथिली’ भाषा केरऽ नाँव दर्ज करलऽ गेलऽ छै ओकरा निरस्त करतें हुअ॑ ‘अंगिका’ क॑ अंकित करलऽ जाय ।

4.ई महोत्सव ई अनुभव करै छै कि विभिन्न वर्तनी के कारण सामान्य ज्ञान लेली अंगिका पढ़ना लिखना कठिन होय छै । बिहार केरऽ विभिन्न क्षेत्रीय भाषा – मैथिली, भोजपुरी, मगही, वाज्जिका आदि म॑ वर्तनी के कोय उलझन नै छै । ई लेली स॑ ई महोत्सव ई प्रस्ताव पारित करै छै कि विभिन्न वर्तनियऽ के जाल-जंजाल क॑ छोड़ी क॑ सहज, सरल, सुगम देवनागरी लिपि में अंगिका के पढ़ै लिखै के व्यवस्था क॑ स्वीकृत करलऽ जाय ।

5. हर्ष के विषय छै कि अंगिका वासियऽ के भावना क॑ ध्यान म॑ रखी क॑ बिहार म॑ अंगिका अकादमी के स्थापना करतें हुअ॑ बिहार सरकार न॑ एगो विद्वान क॑ अंगिका अकादमी के अध्यक्ष पद प॑ प्रतिष्ठित करलकै । ई महोत्सव अत्यंत दुख आरू क्षोभ के साथ ई अनुभव करै छै कि अकादमी के गठन स॑ ल॑ करी क॑ आज तलक अंगिका अकादमी तरफऽ सें अंगिका के विकास, संवर्धन आरू उन्नयन लेली कोय उल्लेखनीय कदम नै उठैलऽ गेलऽ छै । ई लेली स॑ ई महोत्सव राज्य सरकार सें अनुरोध करै छै कि बिहार अंगिका अकादमी केरऽ अध्यक्ष पद प॑ कोनो अंगिका सेव़ी विद्वान क॑ प्रतिष्ठित कर॑ ।

6. ई महोत्सव अंगिका भाषा के प्रति उदासीनता क॑ ल॑ करी क॑ अंगिका क्षेत्र के तमाम विधायक, सांसद के प्रति दुख प्रकट करै छै आरू समस्त अंगिका वासी मतदाता सिनी स॑ अपील करै छै कि अपनऽ-अपनऽ क्षेत्र म॑ ई नारा बुलंद कर॑ कि ‘अंगिका’ नै त॑ वोट नै’।

7. ई महोत्सव सर्वसम्मति स॑ ई प्रस्ताव पारित करै छै कि समस्त क्षेत्र म॑ अंगिका लोक कला, मंजूषा पेंटिंग, स॑ सब्भे सरकारी व गैर सरकारी कार्यालय, संस्थान क॑ सुसज्जित करलऽ जाय आरू भागलपुर स॑ खुलै वाला रेलगाड़ी सब क॑ अंगिका पेंटिंग सें रंगलऽ जाय आरू स्टेशन स॑ अंगिका भाषा में भी सूचना प्रसारण के व्यवस्था करलऽ जाय।

8.ई महोत्सव सर्वसम्मति सें प्रस्ताव रखै छै कि अंगिका भाषा केरऽ समुचित विकास, प्रचार – प्रसार लेली एगो अंगिका पत्रिका (अर्द्धवार्षिक/छमाही) क॑ प्रकाशित करै के व्यवस्था सुनिश्चित करलऽ जाय । एकरा लेली अंगिका महोत्सव लेली गठित समिति म॑ उपयुक्‍त व्यक्ति क॑ सम्मिलित करतें हुअ॑ प्रस्तावित पत्रिका के स्वरूप आरू अन्य व्यवस्था सुनिश्चित करलऽ जाय ।

लहेरी टोला स्थित दल्लू बाबू धर्मशाला में दू दिवसीय अंगिका महोत्सव शुक्रवार २ फऱवरी क॑ शुरू होलऽ रहै । उद्घाटन तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ कुलपति प्रो. लीला चंद साहा, विक्रमशिला हिंदी विद्यापीठ केरऽ कुलपति डॉ. तेज नारायण कुशवाहा, दूरदर्शन केन्द्र, पटना के पूर्व निदेशक एसपी सिंह, अंगिका.कॉम के संस्थापक कुंदन अमिताभ, वरिष्‍ठ कलमकार राजेन्द्र प्रसाद सिंह, अंगिका कविता कोष केरऽ उपसंपादक राहुल शिवाय, वंचित समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. रतन मंडल, गीतकार राजकुमार आरू महोत्सव के संयोजक दयानंद जायसवाल न॑ संयुक्त रूप स॑ दीप प्रज्जवलित करी क॑ करलकै ।

Comments are closed.

error: Content is protected !!