नयी दिल्ली : राजस्थान केरऽ उदयपुर केरऽ कल्पित वीरवाल न॑ इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा, जेइइ मेंस २०१७ म॑ टॉप करन॑ छै । कल्पित न॑ १००% अंक लानी क॑ इतिहास रची देन॑ छै ।  उदयपुर केरऽ कंपाउंडर पुष्कर लाल वीरवाल आरू  स्कूल टीचर पुष्पा वीरवाल केरऽ बेटा जेनरल आरू  शिड्यूल्ड कास्ट (एससी) दोनो श्रेणी म॑ टॉप करन॑ छै । कल भोरे सीबीएसइ केरऽ चेयरमैन आर.के चतुर्वेदी न॑ फोन पर ओकरा ई जानकारी देलकै ।  इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा IIT(Main) म॑ १००% अंक लानी क॑ देश केरऽ टॉपर बनी क॑ कल्पनातीत इतिहास रचै ल॑ राजस्थान केरऽ कल्पित क॑ अंगिका.कॉम तरफऽ स॑ अनंत बधाई ।  IIT (Main) Result 

आईआईटी में कोटा केरऽ दबदबा क॑ तोड़त॑ हुअ॑ उदयपुर केरऽ कल्पित वीरवाल न॑ जेईई मेन्स २०१७ म॑ टॉप करी क॑ इतिहास रची देल॑ छै ।  ई पहलऽ बार छै कि कोनो छात्र न॑ जेईई मेन्स म॑ ३६० म॑ स॑ ३६० अंक हासिल करन॑ छै । कल्पित ९ वीं कक्षा के दौरान ओलंपियाड लेली  मुंबई गेलऽ छेलै । तब॑ आरू बाद म॑ अपनऽ सीनियर क॑ आईआईटी आदि प्रतियोगी परीक्षा म॑ चयनित होतें देखी क॑  ओखरऽ मनऽ में भी ऐसने ख्याल ऐलै । लेकिन ओंय पढ़ाई क॑ एन्जॉय करै छै । ओकरा फिजिक्स, कमेस्ट्री  आरू गणित तीनो विषय बहुत पसंद छै । कल्पित न॑ खाली आईआईटी क॑ फोकस नै करन॑ छेलै । ओकरऽ हिसाब स॑ सफलता लेली  प्रैक्टिस, रिवीजन, स्पीड मायने रखै छै । कल्पित न॑ बतैलकै कि ओंय एनसीईआरटी के किताबऽ के अलावा स्टडी मेटेरियल स॑ पढ़ाई करलकै । साथ ही ओंय फॉरेन राइटर्स के फिजिक्स, केमेस्ट्री आरू मैथ्स के किताब भी पढ़लकै। कल्पित न॑ बतैलकै कि पढ़ाई लेली दिनभर केरऽ शिड्यूल तय होय छेलै । लेकिन वीकेंड म॑ क्रिकेट खेलै आरू म्युजिक सुनै के शौक छेलै । कल्पित नवीं कक्षा के दौरान मुंबई म॑ जूनियर साइंस ओलंपियाड आरू जूनियर एस्ट्रोनॉमी ओलंपियाड लेली देशभर केरऽ टॉप ३५  छात्रऽ म॑ चुनलऽ गेलऽ छेलै । १० वां में एनटीएसई में राजस्थान में पहलऽ स्थान पर रहलै । किशोर वैज्ञानिक योजना में भी कल्पित केरऽ चयन होय चुकलऽ छै । १०वाँ में कल्पित क॑ १० सीजीपीए ऐलऽ छेलै । कक्षा दू स॑ १०वां तलक वू क्लास म॑ टॉपर रहलऽ छै ।

प्राइवेट स॑ १२ वां के परीक्षा दैवाला कल्पित न॑ बतैलकै कि जेइइ के तैयारी के दौरान ओंय कहियो क्लास बंक नै करलकै । कल्पित न॑ कहलकै कि ओंय कभी अपनऽ मनोबल नै गिर॑ देलकै । कोचिंग संस्थान केरऽ शिक्षक सिनी न॑ हमेशा ओकरऽ मनोबल बढ़ैलकै । कल्पित न॑ कहलकै कि कोचिंग क्लास के अलावा वू हर दिन पांच स॑ छह घंटा पढ़ाई करै छेलै ।

इंजीनियरिंग संस्थानऽ म॑ दाखिला लेली सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (सीबीएसइ) द्वारा आयोजित होय वाला ज्वाइंट इंट्रेंस एग्जाम (जेइइ) मेंस ऑनलाइन आरू ऑफलाइन परीक्षा के परिणाम गुरुवार (२७ अप्रैल) क॑ जारी करी देलऽ गेलै । एकरऽ साथ ही जेइइ (एडवांस्ड) म॑ शामिल होय वाला २२००००  अभ्यर्थियऽ के सूची आरू पेपर वन केरऽ ऑल इंडिया रैंक भी जारी करी देलऽ गेलै ।

जेइइ (एडवांस्‍ड) लेली रजिस्‍ट्रेशन २८ अप्रैल क॑ भोरे १० बजे सट शुरू होय गेलै । दू मई क॑ सांझ पांच बजे तलक बिना विलंब शुल्क के साथ रजिस्ट्रेशन स्वीकार करलऽ जैतै । विलंब शुल्क के साथ चार मई क॑ साँझै पांच बजे तलक अभ्यर्थी रजिस्ट्रेशन कराब॑ सकै छै ।

जेइइ (एडवांस्ड)  परीक्षा २१ मई क॑ दू पाली म॑ आयोजित करलऽ जैतै । परीक्षा केरऽ प्रवेश पत्र १० मई क॑ वेबसाइट (www.jeeadv.ac.in) स॑ डाउनलोड करलऽ जाब॑ सकै छै ।

जेइइ मेंस केरऽ ऑल इंडिया रैंकिंग के आधार प॑ राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) सहित देश केरऽ नामचीन इंजीनियरिंग कॉलेजऽ में दाखिला मिलतै । ई पहला मौका छै, जब॑ ऑल इंडिया मेरिट म॑ 12वां के अंकऽ के गणना नै होतै । हालांकि, एनआइटी म॑ दाखिले लेली इच्छुक छात्रऽ लेली अपनऽ बोर्ड म॑ 75 प्रतिशत अंक या फिर टॉप 20 पर्सेंटाइल लाना अनिवार्य होतै ।

दो साल स॑ एडवांस लेली क्वालीफाई करै वाला छात्रऽ सिनी के संख्या बढ़ैला के बावजूद तय संख्या स॑ कम छात्र परीक्षा में बैठी रहलऽ छै ।  जेकरा चलतें हर साल आइआइटी के सीट खाली रही जाय छै ।  वर्ष २०१५ में आइआइटी के २०० आरू २०१६ में ९० सीट खाली रही गेलऽ छेलै । ई साल एडवांस लेली २,२०.००० छात्र क्वालीफाई करतै । हर साल लगभग २० प्रतिशत स्टूडेंट्स क्वालिफाई होला के बादो एडवांस एग्जाम नै देतै ।

आइआइटी काउंसिल मानव संसाधन विकास मंत्रालय के ओर स॑ आइआइटी केरऽ फीस ९० हजार रुपया स॑ बढ़ी क॑ दू लाख रुपया करै के प्रस्ताव पर २८ अप्रैल क॑ फैसला लेतै । हालांकि, बैठक म॑ जरूरतमंद छात्रऽ क॑ सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग तरफऽ स॑ स्कॉलरशिप आरू अन्य वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाबै पर भी चर्चा करी क॑ निर्णय लेलऽ जैतै ।

विशेष श्रेणी के विद्यार्थियऽ लेली वित्तीय सहायता प्रदान करै पर भी आइआइटी काउंसिल विचार करी रहलऽ छै । सामाजिक न्याय विभाग स॑ स्पेशल कैटेगरी के छात्रऽ के सब्भे फीस के पुनर्भरण करवाबै के भी तैयारी छै ।  सालाना एक लाख रुपया सट कम आमदनी वाला परिवारऽ के बच्चा सिनी क॑ भी एकरा म॑ शामिल करलऽ जाब॑ सकै छै ।

जेइइ मेंस के बाद अब॑ जेइइ एडवांस के परीक्षा क॑ भी ऑनलाइन करलऽ जाब॑ सकै छै । शुरुआती चरण म॑ एकरा प॑ निर्णय लेलऽ जाब॑ सकै छै । अब॑ आइआइटी काउंसिल के ज्वाइंट एलोकेशन बोर्ड के मीटिंग में हरी झंडी मिलै के इंतजार करलऽ जाय रहलऽ छै । ई परीक्षा क॑ मोबाइल तक ल॑ क॑ आबै के प्रस्ताव छै । जेइइ मेंस दै वाला कुल छात्रऽ म॑ १० प्रतिशत ऑनलाइन परीक्षा दै छै । एडवांस के परीक्षा भी ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन मोड में करवैलऽ जैतै ।  ई परीक्षा कोनो एक मोड म॑ नै होतै ।

Comments are closed.