भागलपुर । कश्मीर केरौ आतंकी हमला में शहीद होलौ सीआरपीएफ के जवान आरू अंग देश के सपूत रतन कुमार ठाकुर के बाबू निरंजन कुमार ठाकुर के कहना छै कि देश लेली हुनी अपनौ खुद के आरू छोटका बेटा के जान भी कुर्बान करै लेली तैयार छै । शर्त एतने टा छै कि पाकिस्तान केरौ वजूद पूरा तरह सें खतम होय जाय ।

शहीद रतन कुमार ठाकुर

शहीद के बाबू निरंजन कुमार ठाकुर के कहना छै कि शहीद रतनें अपनौ बीमार माय क बचाबै ल पानी ऐसनौ पैसा बहैने रहै । हलाँकि माय नै बचे सकलौ रहै । बेटा के शहीद होला के खबर के बाद निरंजन के भीतर अपनौ पत्नी के गुजरी जाय के गम भी जिंदा होय उठलौ छै । अपनौ माय के निधन के बाद रतनें पूरा परिवार के जिम्मेदारी अपनौ कांधा प ल लेनै छेलै ।

शहीद केरौ बाबू निरंजन कुमार ठाकुर

हुन्नें शहीद केरौ गर्भवती पत्नी राजनंदिनी देवी क ई बात के मलाल छै कि वू दिना वू हुनका सें भर जी  बातो नै करै सकले छेलै आरू हुनी पूरा परिवार क छोडी क चल्लौ गेलै । कानी-कानी क बेहाल होलौ राजनंदिनी क ई बात के मलाल छै कि हुनी आबै वाला बच्चा के मुंह भी नै देखै सकतै । कपसी-कपसी कानतें कहै छै कि ‘‘आखिर हमरा सिना सें की गलती होय गेलै , जे भगवानें हमरा ई दिन देखलैलकै ।”

रतन के भाय मिलन भी अपनौ बड़ौ भाय के शहादत प गम म छै। हुनकौ अनुसार शुरूआते सँ रतन मँ देश लेली कुछ करै के तमन्ना रहै।

भागलपुर केरौ कहलगांव के रतनपुर गांव के रहै वाला रतन के पूरा परिवार अखनी भागलपुर शहर केरौ लोदीपुर मोहल्ला में किराया के मकान में रही रहलौ छेलै। शहीद के बाबू के अनुसार हुनी सब अपनौ गांव सें बच्चा सिनी क पढ़ाबै लेली पिछला साल मार्च  में भागलपुर आबी गेलौ रहै । छोटका बेटा मिलन ठाकुर छेकै, जे बीए म पढ़ै छै । एकरौ अलावे दू गो बेटी छै। घोर प हुनकौ अलावे शहीद रतन के पत्नी राजनंदिनी देवी आरू चार साल के बेटा कृष्णा भी छै । सबलोग एक साथ रहै छै।

Comments are closed.

error: Content is protected !!