मुंबई : पीएम नरेंद्र मोदी न॑ आय इतबार क॑ नवी मुंबई एयरपोर्ट के आधारशिला रखलकै । हुनी कहलकै कि विश्व व्यापार के लाभ तब॑ होय छै जब॑ दुनिया सथें जुड़ै लेली विश्व स्तर केरऽ इंफ्रास्ट्रक्चर रह॑ । भारत एगो भाग्यवान देश रहलऽ कि सामूहिक शक्ति क॑ पहचानै वाला पहलऽ राष्ट्रपुरुष छत्रपति शिवाजी महाराज छेलै । पीएम न॑ कहलकै कि एविएशन सेक्टर केरऽ ताकत देश केरऽ टूरिज्म क॑ बल देतै ।

पीएम न॑ कहलकै कि आय नवी मुंबई म॑ ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट बनै ल॑ जाय रहलऽ छै । आजादी के बाद एविएशन सेक्टर केरऽ एतना बड़ऽ ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट पहलऽ बार होय रहलऽ छै । पीएम न॑ कहलकै कि एविएशन सेक्टर काफी तेज गति सें आगू बढ़ी रहलऽ छै । आज सें २०-२५ साल पहलें पूरे हिन्दुस्तान के एयरपोर्ट प॑ जेतना ट्रैफिक छेलै, आय ओकरा सें जादा असकल्ले मुंबई एयरपोर्ट प॑ ट्रैफिक छै । आय वक्त ऐसनऽ बदली चुकलऽ छै, जेना आपन॑ बस केरऽ लाइन देखै छेलियै, वैसने लाइन मुंबई सहित देश केरऽ कई एयरपोर्ट प॑ देखै ल मिलै छै ।

पीएम न॑ कहलकै कि जोन तेजी सें एविएशन सेक्टर के ग्रोथ होय रहलऽ छै, ओकरऽ आवश्यकता के अनुसार भारत अखनी एविएशन सेक्टर के इंफ्रास्ट्रक्चर म॑ काफी पीछू चली रहलऽ छै । हमरा लगलै कि ई देश म॑ जे ‘हवाई चप्पल’ पहनै छै वू भी हवाईजहाज म॑ उड़॑ । ई लेली हम्म॑ उड़ान योजना लानलियै । देश म॑ १०० सें जादा नया एयरपोर्ट बनाना या पुरानऽ पड़लऽ एयरपोर्ट क॑ ठीक करना आरू कार्यरत करै के दिशा म॑ ई सरकार काम करी रहलऽ छै ।

पीएम न॑ कहलकै कि देश में आजादी केरऽ एतना वर्षों म॑ जे हवाई जहाज खरीदलऽ गेलै , चलैलऽ गेलै ओकरऽ संख्या करीब-करीब ४५० छै जे हवाई जहाज सेवा में छै । वहीं, खाली ई एक साल म॑ ही ९०० नया हवाईजहाज केरऽ ऑर्डर बुक करैलऽ गेलऽ छै । आपन॑ कल्पना करै सकै छियै कि केतना तेजी सें एविएशन सेक्टर बढ़ी रहलऽ छै ।

Comments are closed.

error: Content is protected !!