देश मँ रिटायरमेंट के उमर बढ़ी क अबै ७० साल होना चाहियौ : आर्थिक सर्वेक्षण ?

नई दिल्ली । ४ जूलाई, २०१९ । देश मँ रिटायरमेंट के उमर बढ़ी क अबय ७० साल होना चाहियौ ? मोदी सरकार जों मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यन आरो उनकौ टीम के सलाह पर आगे बढ़ै छै त ई संभव छै। गुरुवार क राज्यसभा मँ पेश आर्थिक सर्वे मँ ऐसने प्रस्ताव रखलौ गेलौ छै । एकरौ समर्थन मँ जर्मनी, अमेरिका, यूके, चीन, जापान सहित कईएक देशौ के उदाहरण भी देलौ गेलौ छै ।

जीवन प्रत्याशा मँ इजाफा छेकै वजह
रिपोर्ट मँ कहलौ गेलौ छै कि भारत मँ महिला आऱू पुरुषौ के जीवन प्रत्याशा (लाइफ एक्सपेंटेंसी) लगातार बढ़ी रहलौ छै । अन्य देशौ के अनुभव के आधार पर मरद आरू जनानी सिनी के रिटायरमेंट उमिर मँ बढ़ोतरी पर विचार करलौ जाबै सकै छै । ई पेंशन सिस्टम मँ व्यावहारिकता बढ़ाबै के कुंजी छेकै आरू ई महिला श्रम बल केरौ पुरानौ आयु समूह मँ पेंशन के भागीदारी क बढ़ैतै । रिटायरमेंट उमिर मँ वृद्धि अनिवार्य छै, ई लेली ई परिवर्तन केरौ अडवांस मँ संकेत देना आवश्यक छै । एकरा सँ पेंशन आऱू अन्य रिटायरमेंट प्रावधानौ के अग्रिम योजना मँ मदद मिलतै।

https://www.prabhatkhabar.com/news/budget-2019/general-budget-today-65-years-retirement-age-investment-fall-down-period-signs/1303213.html

https://navbharattimes.indiatimes.com/business/budget/budget-news/economic-survey-suggests-rise-in-retirement-age/articleshow/70073051.cms

Comments are closed.

error: Content is protected !!