भागलपुर । वरिष्ठ अंगिका साहित्यकार आरू आकाशवाणी कलाकार सांत्वना साह नै रहलै । हुनकऽ फेसबुक पर हुनकऽ बेटा श्री सलील कुमार द्वारा प्रकाशित सूचना के आधार प॑ आय ८ नवंबर,२०१८ क॑ सबरगरे बंगलोर केरऽ एगो नामी अस्पताल म॑ हुनी अंतिम साँस लेलकै ।

हुनी जीबीएम-4 नामक बीमारी सें जूझी रहलऽ छेलै । बैंगलोर केरऽ एगो प्रीमियम अस्पताल में जीबीएम-4 केरऽ इलाज चली रहलऽ छेलै ।  हुनी अपना पीछू दू बेटा, एक बहू आरू दू पोता छोड़ी क॑ गेलै ।

सांत्वना साह

कल भोरे 08:00 बजे पश्चात रेडियो कॉलोनी, आदमपुर, भागलपुर में हुनकऽ अन्तिम दर्शन करलऽ जाब॑ सकै छै आरू श्रद्धांजलि अर्पित करलऽ जाब॑ सकै छै ।

सांत्वना साह एगो मृदुभाषी व्यक्तित्व वाला साहित्यकार आरू कलाकार छेलै । हुनी आकाशवाणी के माध्यम स॑ अंगिका केरऽ महत्वपूर्ण सेवा करलकै जेकरा भुलाना बहुत मुश्किल छै । अंगिका.कॉम हुनका प्रति हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करै छै । भगवान हुनकऽ आत्मा क॑ चिर शांति प्रदान कर॑ ।

हुनकऽ  निधन स॑ अंग देश म॑ शोक के लहर व्याप्त होय गेलऽ छै । हुनी आम अंगिका भाषी जनता के बीच आकाशवाणी केरऽ कार्यकम अंग-दर्पण के माध्यम स॑ ‘चंपा बहिन’ के नाम सें प्रसिद्ध होय गेलऽ रहै ।

हुनकऽ  निधन प॑ हुनका श्रद्धांजलि दै वाला के ताँता लगी गेलऽ छै । हुनका श्रद्धांजलि दै वाला म॑ शामिल छै – वीरेंद्र सिंह, डॉ. अमरेंद्र, नृपेंद्र पाठक, निरूपम कुमार सिन्हा, पारस कुंज, एस.के.प्रोग्रामर, अरविंद कुमार, त्रिलाकीनाथ दिवाकर, डॉ. गीता डोगरा, धनंजय चंद्रवंशी, डॉ. लखन लाल सिंह आरोही,भावानंद सिंह, मनीष कुमार गूँज, कवि राजकुमार, पंडित अनूप कुमार बाजपेयी, महेंद्र निशाकर, शिवनंदन सलिल, राज्य वर्धन, शशिधर मेहता, कवि घनश्याम, लतांत प्रसून, राजीव बनर्जी, मीरा झा, प्रणीत कुणाल,राहुल शिवाय, माध्वी चौधरी, मीरा झा  कुंदन अमिताभ आदि ।

Comments are closed.

error: Content is protected !!