अबरी दाफी

अंगिका को अष्टम अनुसूची में शामिल करने की आनाकानी समझ से परे

अंगिका को अष्टम अनुसूची में शामिल करने की आनाकानी समझ से परे

अंगिका को अष्टम अनुसूची में शामिल करने की आनाकानी समझ से परे —  कुंदन अमिताभ — यह एक अनबूझ पहेली सी ही है कि बिहार, झारखंड, पं. बंगाल के लगभग छह करोड़ भारतीयों द्वारा बोली जाने वाली भाषा अंगिका को अब तक भारतीय संविधान की अष्टम अनुसूची में शामिल नहीं किया गया है. जबकि वास्तविकता यह है कि विश्व के[Read More...]

क्या आज प्रधानमंत्री अंगिका को अष्टम अनुसूची में शामिल करने की घोषणा करेंगें?

क्या आज प्रधानमंत्री अंगिका को अष्टम अनुसूची में शामिल करने की घोषणा करेंगें?

क्या आज प्रधानमंत्री अंगिका को अष्टम अनुसूची में शामिल करने की घोषणा करेंगें? —  कुंदन अमिताभ — यह एक अनबूझ पहेली सी ही है कि बिहार, झारखंड, पं. बंगाल के लगभग छह करोड़ भारतीयों द्वारा बोली जाने वाली भाषा अंगिका को अब तक भारतीय संविधान की अष्टम अनुसूची में शामिल नहीं किया गया है. जबकि वास्तविकता यह है कि विश्व[Read More...]

पीयै के पानी लेली मारा-मारी

पीयै के पानी लेली मारा-मारी

पीयै के पानी लेली मारा-मारी —  कुंदन अमिताभ — पीयै के पानी केरऽ समस्या दिनों दिन भयावह होलऽ जाय रहलऽ छै. दिनों-दिन बढ़लऽ जाय रहलऽ जनसंख्या के अलावा नदी, जंगल आरू पहाड़ जैसनऽ जलस्त्रोत वाला प्राकृतिक संपदा केरऽ अंधाधुंध दुरूपयोग एकरऽ मूल कारणऽ मं॑ सं॑ चंद आसानी सं॑ समझलऽ जाय वाला कारण छेकै. मनुष्य आरू इतर जीव समुदाय लेली जीवन[Read More...]

कहिया अवतरित भेलै मानव

कहिया अवतरित भेलै मानव

कहिया अवतरित भेलै मानव —  कुंदन अमिताभ — धरती पर मानव केरऽ अस्तित्व केतना पुरानऽ छै ? इ सवाल केरऽ जबाब खोजै केरऽ प्रयास लगातार होतं॑ रहलऽ छै. पर ठीक-ठीक कुछ पता नै चल॑ पारलऽ छै. ऐन्हऽ मं॑ समय – समय पर मिललऽ पुरातात्विक अवशेष ही अनुमान लगाबै के मुख्य आधार बनै छै. लगातार होय रहलऽ वैज्ञानिक शोध सं॑ कुछ[Read More...]

आहत झारखंड क॑ केना मिलतै ठनका के कहर सं॑ निजात

ताकि मिल॑ सक॑ ठनका के कहर सं॑ निजात

ताकि मिल॑ सक॑ ठनका के कहर सं॑ निजात —  कुंदन अमिताभ — बिना मौसम केरऽ बरसात मं॑ या मानसून केरऽ शुरूआती आरू अंतिम दौर मं॑ या कहीं – कहीं मानसून मं॑ भी जब॑ ठनका के कड़क आरू चमक के साथ गरदौआ झरिया केरऽ बौछार पड़ै छै त॑ धरती केरऽ आरू जीवऽ सथें मानव मऽन भी झमझम करी क॑ झूम॑ लागै छै.[Read More...]

नाशिक महाकुंभ केरऽ अलग छटा

तनी टा हटी क॑ महाकुंभ

तनी टा हटी क॑ महाकुंभ —  कुंदन अमिताभ — जोंय तोंय बरसात केरऽ मौसम मं॑ कुंभ मेला देखै के कार्यक्रम बनाय रहलऽ छहो त॑ निश्चित रूप सं॑ इ  महाराष्ट्र केरऽ तीर्थ नगरी नाशिक व त्रयंबकेश्वर मं॑ सिंह राशि मं॑ सूर्य केरऽ प्रवेश के साथ शुरू होय वाला नाशिक कुंभ मेला ही छेकै. सिंह राशि मं॑ सूर्य केरऽ प्रवेश के साथ शुरू[Read More...]

शराब पीना छोड़ऽ - शराब केरऽ जहर परिवारनाशक होय छै

शराबबंदी केरऽ माँग भल्लऽ संकेत

शराबबंदी केरऽ माँग भल्लऽ संकेत —  कुंदन अमिताभ — बिहार मं॑ शराबबंदी केरऽ आवाज बुलंद हुए॑ लागलऽ छै. इ त॑ होना ही रहै – आय नै त॑ काल. गुरुवार क॑ पटना केरऽ श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल मं॑ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एगो कार्यशाला मं॑ भाषण खत्म करी क॑ बैठै वाला रहै कि जनानी केरऽ एगो समूह न॑ शराब केरऽ मुद्दा उठैतं॑ मांग कर॑ लागलै[Read More...]

हिन-हिन हिनहिनाबॊ पर घिनाबॊ नै

Protected: हिन-हिन हिनहिनाबॊ पर घिनाबॊ नै

There is no excerpt because this is a protected post.

भूकंप

Protected: धरती कॆ डोलै सॆं भला कोय रोकॆ पारलॆ छै ?

There is no excerpt because this is a protected post.

सुखरात मॆं आतिशबाजी सॆं निजात

सुखरात मॆं आतिशबाजी सॆं निजात

हर साल जबॆ सुखरात (दिवाली) आबै वाला रहै छै आरू आबी कॆ चल्लॊ जाय छै, इ मुद्दा चरम चर्चा मॆ रहै छै कि आतिशबाजी आरू आतिशबाजी जनित प्रदूषण सॆं केना निजात पैलॊ जाय. तरह-तरह के तर्क-वितर्क, तरह-तरह के बयानबाजी, तरह-तरह के पाबंदी के दौर चलै छै. तमाम तरह के विनम्र आग्रह भी करलॊ जाय छै. शुरू मॆ एन्हॊ प्रतीत होय छै कि शायद[Read More...]