5 days ago
प्रधानमंत्रियें पटना मेट्रो रेल परियोजना समेत, सुलतानगंज, भागलपुर, कटिहार, बेगूसराय,पुर्णिया सब लेली 33,000 करोड़ रुपया के परियोजना के आधारशिला रखलकै आरू उद्घाटन करलकै
7 days ago
हमला के पीछू जे भी ताकत छै, गुनहगार छै, ओकरा ओकरौ करनी के सजा जरूर मिलतै – प्रधानमंत्री
7 days ago
देश लेली हम्में अपनो आरू अपनौ छोटका बेटा के जान भी कुर्बान करै लेली तैयार छियै, शर्त एतने टा छै कि पाकिस्तान केरौ वजूद मिटना चाहिय्यौ – शहीद रतन के बाबू
1 week ago
कश्मीर म सीआरपीएफ के काफिला प फिदायीन हमला – ४२ जवान शहीद, शहीदौ में अंगदेश केरौ रतन कुमार ठाकुर भी
2 weeks ago
सर्वसम्मति स॑ आठ महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित करी क॑ अंगिका के विकास लेली तय करलऽ गेलै आगू के रणनीति

News

दू आरू तीन फरवरी क॑ आयोजित होतै अंगिका महोत्सव -२०१९

दू आरू तीन फरवरी क॑ आयोजित होतै अंगिका महोत्सव -२०१९

भागलपुर । आगामी दू आरू तीन फरवरी क॑  अंगिका महोत्सव -२०१९ केरऽ आयोजन करलऽ जैतै । अंगिका साहित्यकार सिनी केरऽ एगो बैठक म॑ महोत्सव केरऽ तैयारी क॑ ल॑ क॑ एगो बैठक म॑ ई निर्णय लेलऽ गेलै । महोत्सव केरऽ आयोजन लेली एगो आयोजन समिति के गठन करलऽ गेलै । आयोजन समिति केरऽ संयोजक श्री दयानंद जयसवाल आरू सहायक संयोजक श्री नीरज कुमार सिन्हा क॑ बनैलऽ गेलै ।   संबंधित अंगिका समाचार पढ़ऽ / Read similar Angika News :क्या आज प्रधानमंत्री अंगिका को अष्टम अनुसूची में…सर्वसम्मति स॑ आठ महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित करी क॑…अंगिका काव्य और कविसंस्कृत, पाली, प्राकृत, हिंदी आरू अंगिका केरऽ…सरकारी उपेक्षा केरऽ शिकार बिहार अंगिका अकादमी केरऽ…बिहार सरकार करलकै अंगिका अकादमी केरॊ गठन – अंगिका…अंगिका भाषा का साहित्यिक परिदृश्यअंगिका भाषा आरू अंग संस्कृति केरऽ संरक्षण व…चार अलग-अलग सत्र म॑ आयोजित होतै अंगिका महोत्सव…जाह्न्वी अंगिका संस्कृति संस्थान न॑ बिहार अंगिका…

अंग-अंगिका के विकास म॑ लगलऽ संस्था सिनी मिली-जुली क॑ करतै अंगिका महोत्सव के नियमित आयोजन

अंग-अंगिका के विकास म॑ लगलऽ संस्था सिनी मिली-जुली क॑ करतै अंगिका महोत्सव के नियमित आयोजन

सुलतानगंज । अंग-अंगिका के विकास म॑ लगलऽ संस्था सिनी मिली-जुली क॑ अंगिका महोत्सव के नियमित रूप स॑ आयोजन करै प॑ विचार करी रहलऽ छै । एगो प्रेस-विज्ञप्ति जारी करी क॑ जानकारी देलऽ गेलऽ छै कि सब संस्था द्वारा मिली-जुली क॑ अंगिका महोत्सव क॑ नियमित रूप स॑ आयोजन करै प॑ विचार करै लेली आगामी २३ दिसंबर क॑ भागलपुर म॑ एगो बैठक केरऽ आयोजन करलऽ गेलऽ छै । बर्षो पहल॑ सरकारी स्तर पर अंग-महोत्सव केरऽ आयोजन होय छेलै । जेकरा स॑ अंगिका साहित्यकार, पत्रकार, कवि सिनी म॑ नयऽ ऊर्जा के संचार होय छेलै । लोग सब अंगिका के विकास लेली अधिक से अधिक सोच॑ पारै छेलै । साहित्यकारऽ सिनी के सहयोग सें ही साल २००७ ई. म॑ सैंडिस कंपाउंड म॑ शायद आखरी बार अंग-महोत्सव आयोजित होलऽ छेलै । एकरऽ बाद बहुत्ते दफा खाली प्रबुद्ध जनऽ सिनी न॑ अंगिका-महोत्सव आयोजित करै या कराबै के बात कही क॑ ताली बटोरलकै, लेकिन अखनी तलक ई संभव नै हुअ॑ पारलऽ छै… Read More

दिल्ली सरकार करतै अंगिका अकादमी केरऽ स्थापना

दिल्ली सरकार करतै अंगिका अकादमी केरऽ स्थापना

दिल्ली सरकार अंगिका अकादमी केरऽ स्थापना करतै ।दिल्ली म॑ प्रवास करी रहलऽ अंग क्षेत्र केरऽ लाखों अंगिका भाषी के भाषा अधिकार के सम्मान करतें हुअ॑ हुनकऽ भाषा के नाम अंगिका प॑ अकादमी के गठन करतै ।  उपरोक्त जानकारी मैथिली भोजपुरी अकादमी केरऽ उपाध्यक्ष नीरज पाठक न॑ सोमवार ३ दिसंबर-२०१८ क॑ मुलाकात लेली ऐलऽ अंगिका प्रतिनिधि सिनी क॑ देलकै । मुलाकात करै वाला म॑ साहित्यकार शिवनारायण, अखिल भारतीय अंगिका साहित्य कला मंच केरऽ प्रदेश महासचिव एस.के.प्रोग्रामर, अंग मदद फाउंडेशन केरऽ अध्यक्ष प्रसून लतांत, अंगिका जन-जागरण अभियान केरऽ संयोजक शशिधर मेहता, डॉ. पंकज प्रियम, अंजनी कुमार शर्मा आदि शामिल छेलै । अकादमी केरऽ स्वरूप कैसनऽ होतै एकरा प॑ चर्चा अगला साल अप्रैल म॑ होतै । अंगिका.कॉम केरऽ संस्थापक कुंदन अमिताभ न॑ सबक॑ बधाई देतें कहल॑ छै कि दिल्ली सरकार द्वारा अंगिका अकादमी केरऽ स्थापना के प्रयास म॑ लगलऽ अंग सपूतऽ सब के मेहनत अंगिका के नयऽ भविष्य गढ़तै एकरा म॑ कोय शक नै । संबंधित अंगिका समाचार पढ़ऽ… Read More

बिहार अंगिका अकादमी क॑ मिललै कार्यालय, भवन के नाम ‘अंग भवन’ रहतै, दीवार मंजूषा कला स॑ अलंकृत रहतै

बिहार अंगिका अकादमी क॑ मिललै कार्यालय, भवन के नाम ‘अंग भवन’ रहतै, दीवार मंजूषा कला स॑ अलंकृत रहतै

बिहार अंगिका अकादमी के कार्यालय भवन के नाम अंग भवन रहतै आरू ओकरऽ दीवार मंजूषा कला स॑ अलंकृत रहतै। स्थापना केरऽ तीन साल सें भी जादे वक्त बितला के बाद आखिरकार बिहार अंगिका अकादमी क॑ स्वतंत्र कार्यालय मिली गेलऽ छै । आपनऽ फेसबुक केरऽ माध्यम स॑ अंगिका अकादमी अध्यक्ष न॑ १ दिसंबर-२०१८ क॑ जानकारी देन॑ छै कि बिहार अंगिका अकादमी केरऽ कार्यालय वासतें सरकार स॑ पटना के महेन्द्रू इलाका म॑ एस.सी.आर.टी.परिसर म॑ एगो भव्य कमरा आवंटित होय गेलै, जेकरो पत्र अध्यक्ष क॑ ३० नवंबर,२०१८ क॑ मिली गेलै । अब॑ कार्यालय के जल्दी उद्घाटन वासतें व्यवस्था होय रहलऽ छै । ५ दिसंबर -२०१८ क॑ फेसबुक के माध्यम सें ही हुनी जानकारी देन॑ छै कि बिहार अंगिका अकादमी के कार्यालय भवन के नाम ‘अंग भवन’ रहतै आरू ओकरऽ दीवार मंजूषा कला स॑ अलंकृत रहतै।   बिहार अंगिका अकादमी क॑ कार्यालय मिलला प॑ बधाई आरू शुभकामना देतें हुअ॑ अंगिका.कॉम केरऽ संस्थापक कुंदन अमिताभ न॑ कहन॑ छै कि निश्चित… Read More

बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन आरू विश्व अंगिका साहित्य सम्मेलन केरऽ अंगिका महोत्सव कल

बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन आरू विश्व अंगिका साहित्य सम्मेलन केरऽ अंगिका महोत्सव कल

पटना । १७-११-२०१८ । बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन आरू विश्व अंगिका साहित्य सम्मेलन केरऽ संयुक्त प्रयास स॑ कल १८ नवम्बर क॑ अंगिका आरू हिन्दी केरऽ साहित्यकार पं बुद्धिनाथ झा ‘कैरव’ के जयंती आरू ‘अंगिका महोत्सव’ के आयोजन करलऽ गेलऽ छै । ई एक दिवसीय महोत्सव म॑ अंगिका समेत सब्भे लोक-भाषा में मूल्यवान सृजन लेली दू दर्जन सें अधिक विदुषी आरू विद्वानऽ सिनी क॑ कपिल सिंह मुनि अंग विभूति सम्मान सें अलंकृत करलऽ जैतै । उद्घाटन आरू वैचारिक सत्र के बाद लोक-भाषा कवि-सम्मेलन आयोजित होतै । साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. अनिल सुलभ न॑ बतैलकै कि महोत्सव में बिहार केरऽ विभिन्न जिला सें २०० सें अधिक साहित्य-सेवी भाग ल॑ रहलऽ छै । ई अवसर पर कवयित्री सविता देवी के गीत-संग्रह ‘अंगिका लोक गीत’ आरू ‘अबकी मइयाँ ऐंहें ज़रूर’ आऱू ‘ओझा रे टोली के शीतला गे मइयां’ नामक ऑडियो एलबम के लोकार्पण करलऽ जैतै । जेकरा म॑ गायक शक्ति सिंह, प्रियंका मिश्र आरू डॉ. आर. प्रवेश न॑… Read More

अठमाहा गाँव म॑ आयोजित भेलै अखिल भारतीय अंगिका साहित्य कला मंच केरऽ कवि सम्मेलन

अठमाहा गाँव म॑ आयोजित भेलै अखिल भारतीय अंगिका साहित्य कला मंच केरऽ कवि सम्मेलन

बाँका।१६-११-२०१८। अठमाहा गांव म॑ अखिल भारतीय अंगिका साहित्य कला मंच केरऽ तत्वावधान म॑ कवि सम्मेलन आयोजित करलऽ गेलै । जेकरऽ उद्घाटन मंच केरऽ राष्ट्रीय अध्यक्ष सह तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय अंगिका विभागाध्यक्ष डॉ. मधुसूदन झा, महामंत्री हीरा प्रसाद हरेन्द्र, समाजसेवी इन्द्रजीत सिंह न॑ संयुक्त रूप स॑ दीप जलाय करी क॑ करलकै । मौका पर अंगिका के कवि विकास सिंह गुलटी केरऽ किताब ‘हमरऽ अंग देश’ के लोकार्पण करलऽ गेलै। मौका प॑ कवि विजेता मुगदलपुरी, परमानन्द प्रेमी आदि कवि न॑ विकास सिंह गुलटी के पुस्तक के प्रशंसा करतें कहलकै कि अंग प्रदेश क॑ जानै व समझै लेली हिनकऽ गीत ही काफी छै । सम्मेलन केरऽ दूसरे सत्र में रामावतार राही न॑ अपनऽ चुटीला अंदाज में अपनऽ रचना क॑ उपस्थित लोगऽ के बीच परोसलकै । जेकरा स॑ उपस्थित लोगऽ क॑ उनकऽ हास्य व्यंग्य सुनी क॑ हंसी केरऽ फव्बारा फुटी परलै । नरेश जनप्रिय, प्रकाश सेन प्रीतम, चंद्रिका ठाकुर, अंजनी सुमन, अभय कुमार सिंह, अश्विनी सोलंकी, राघवेंद्र सिंह आदि… Read More

परम प्रिय मामू आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव क॑ श्रद्धांजलि – अक्षय मोहन भट्ट

परम प्रिय मामू आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव क॑ श्रद्धांजलि – अक्षय मोहन भट्ट

परम प्रिय मामू आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव क॑ श्रद्धांजलि — अक्षय मोहन भट्ट— (मौसम विज्ञानी, मौसम विज्ञान विभाग, भारत सरकार, अम्बिकापुर, छत्तीसगढ़) आज साहित्य आकाश में दर्द बहुत है ! कवि हृदय की पीड़ा में सिंचित शब्दों का आभाव बहुत है ! जीवन की प्रथम परिभाषा, सारस्वत होवे शब्दों की मर्यादा, विराम लेखनी को मिली, अंतिम पन्ने पर पूर्ण हस्ताक्षर रञ्जन तुम्हारी विराम लेखनी में अश्रु का पारावार बहुत है ! साहित्य जगत का गला रुंधता, शब्द नहीं हैं कवि शब्द ढूंढता, मग शाकद्वीपी के रत्न रञ्जन, हुए ओझल ,रह गयीं शेष चक्षु क्रंदन, यादें शेष अब रञ्जन कृति में , नम आंखों में आभार बहुत है ! ओज प्रवीण पंडित श्री रञ्जन, माधर्य बोध के विज्ञ श्री रञ्जन, सरस्वती पुत्र प्रखर श्री रञ्जन, श्रद्धावनत हूँ मातुल श्री रञ्जन, बैकुंठ प्रकाशित आज हुआ होगा, गर्व मुझे अभिमान बहुत है ! आज साहित्य आकाश में दर्द बहुत है ! श्रद्धांजलि — 11.11.2018 * संबंधित अंगिका समाचार पढ़ऽ / Read… Read More

संस्कृत, पाली, प्राकृत, हिंदी आरू अंगिका केरऽ शीर्षस्थ साहित्यकार ९३ बर्षीय आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव केरऽ देहावसान

संस्कृत, पाली, प्राकृत, हिंदी आरू अंगिका केरऽ शीर्षस्थ साहित्यकार ९३ बर्षीय आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव केरऽ देहावसान

पटना। ११ नवंबर,२०१८ । संस्कृत,पाली, प्राकृत, हिंदी आरू अंगिका केरऽ शीर्षस्थ साहित्यकार आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव केरऽ निधन होय गेलऽ छै । ७० बरसऽ स॑ निरंतर साहित्य-साधना म॑ रत ९३ बर्षीय आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव केरऽ निधन संदलपुर, महेन्द्रू, पटना स्थित हुनकऽ आवास शुभैषणा  प॑ आय भोरंरिंयां साढ़े पाँच बजे होलै । आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव केरऽ पार्थिव शरीर क॑ अंतिम दर्शन लेली पटना स्थित हिंदी साहित्य सम्मेलन भवन म॑ दुपहर २ बजे लानलऽ जैतै । हुनकऽ दाह संस्कार पटना केरऽ गुलबी घाट प॑ करलऽ जैतै । आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव केरऽ निधन प॑ श्री लालजी टंडन, महामहिम राज्यपाल,बिहार न॑ गहरऽ शोक व संवेदना व्यक्त करल॑ छै । राज्यपाल सचिवालय,बिहार द्वारा जारी शोक-संवेदना संदेश म॑ कहलऽ गेलऽ छै कि साहित्य केरऽ समस्त विधा म॑ आपनऽ भावपूर्ण आरू वैचारिक लेखन के माध्यम स॑ स्व. सूरिदेव जी न॑ मानव-समाज को स्वस्थ दिशा और दृष्टि प्रदान की । आपनऽ सांस्कृतिक व राष्ट्रवादी चिंतनपरक साहित्यिक अवदान स॑ हुनी भारतीय वांङ्मय क॑ समृद्ध बनैलकै ।… Read More

सुलतानगंज के उत्तरवाहिनी गंगा तट प॑ सांत्वना साह केरऽ पार्थिव शरीर पंच-तत्व म॑ विलीन

सुलतानगंज के उत्तरवाहिनी गंगा तट प॑ सांत्वना साह केरऽ पार्थिव शरीर पंच-तत्व म॑ विलीन

सुलतानगंज । ९ नवंबर, २०१८ । सुलतानगंज केरऽ उत्तरवाहिनी गंगा तट प॑ सांत्वना साह केरऽ पार्थिव शरीर पंच-तत्व म॑ विलीन भ॑ गेलै । सुलतानगंज केरऽ श्मसान घाट प॑ आकाशवाणी भागलपुर केरऽ नूर, अंगिका केरऽ मशहूर कोकिल कंठी “चंपा बहन” केरऽ दाहसंस्कार पूरा श्रद्धा आरू साहित्यिक सम्मान के साथ करी देलऽ गेलै । मुखाग्नि श्रीमती साह केरऽ बड़का बेटां सलिल कुमार न॑ देलकै । ई अवसर पर अखिल भारतीय साहित्य कला मंच आरू अजगैवीनाथ साहित्य मंच के वरीय पदाधिकारीयऽ म॑ हीरा प्रसाद हरेन्द्र, डॉ. ब्रह्मदेव नारायण सत्यम, सुधीर कुमार प्रोग्रामर, अंजनी कुमार शर्मा, साथी सुरेश सूर्य, मनीष कुमार गूंज, हरिनंदन चौरसिया, प्राण मोहन प्रीतम, साथी इंद्रदेव, डॉ. श्यामसुन्दर आर्य के अलावे दर्जनऽ साहित्यप्रेमी उपस्थित होय करी क॑ फूलमाला द॑ करी क॑ “अंग कोकिला सांत्वना साह अमर रह॑” के नारा स॑ अपनऽ श्रद्धांजलि अर्पित करलकै। ज्ञातव्य छै कि वरिष्ठ अंगिका साहित्यकार आरू आकाशवाणी कलाकार सांत्वना साह केरऽ निधन ८ नवंबर,२०१८ क॑ सबरगरे बंगलोर के अपोलो अस्पताल म॑ इलाज… Read More

सांत्वना साह

वरिष्ठ अंगिका साहित्यकार सांत्वना साह केरऽ निधन, अंग देश म॑ शोक के लहर

भागलपुर । वरिष्ठ अंगिका साहित्यकार आरू आकाशवाणी कलाकार सांत्वना साह नै रहलै । हुनकऽ फेसबुक पर हुनकऽ बेटा श्री सलील कुमार द्वारा प्रकाशित सूचना के आधार प॑ आय ८ नवंबर,२०१८ क॑ सबरगरे बंगलोर केरऽ एगो नामी अस्पताल म॑ हुनी अंतिम साँस लेलकै । हुनी जीबीएम-4 नामक बीमारी सें जूझी रहलऽ छेलै । बैंगलोर केरऽ एगो प्रीमियम अस्पताल में जीबीएम-4 केरऽ इलाज चली रहलऽ छेलै ।  हुनी अपना पीछू दू बेटा, एक बहू आरू दू पोता छोड़ी क॑ गेलै । कल भोरे 08:00 बजे पश्चात रेडियो कॉलोनी, आदमपुर, भागलपुर में हुनकऽ अन्तिम दर्शन करलऽ जाब॑ सकै छै आरू श्रद्धांजलि अर्पित करलऽ जाब॑ सकै छै । सांत्वना साह एगो मृदुभाषी व्यक्तित्व वाला साहित्यकार आरू कलाकार छेलै । हुनी आकाशवाणी के माध्यम स॑ अंगिका केरऽ महत्वपूर्ण सेवा करलकै जेकरा भुलाना बहुत मुश्किल छै । अंगिका.कॉम हुनका प्रति हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करै छै । भगवान हुनकऽ आत्मा क॑ चिर शांति प्रदान कर॑ । हुनकऽ  निधन स॑ अंग देश म॑ शोक के लहर व्याप्त… Read More

error: Content is protected !!