अंगिका प्राचीन साहित्य

सरह / सरहपा केरऽ बौद्ध महामुद्रा निर्देश – लामा कुंगा चोऐदक द्वारा पठित

 लामा कुंगा चोऐदक द्वारा पठित सरह (सरहपा) केरऽ बौद्ध महामुद्रा निर्देश  Buddhist Mahamudra instruction of Saraha, recited by Lama Kunga Choedak  Reference: https://www.youtube.com/watch?v=1zXfa-ZWvSQ&feature=youtu.be  संबंधित अंगिका समाचार पढ़ऽ / Read similar Angika News :बिहार केरऽ प्राइमरी इसकूली मं॑ माध्यम भासा के रूप…सरकारी उपेक्षा केरऽ शिकार बिहार अंगिका अकादमी केरऽ…अंगिका भाषा आंदोलन केरऽ पुरोधा आरू अंगिका साहित्य…जाह्न्वी अंगिका संस्कृति संस्थान न॑ बिहार अंगिका…स्वतंत्रता दिवस – २०१६ ई.,२०१५ ई.,२०१४ ई. केरऽ अवसर…सरकार केरऽ अनुमति के बगैर ही चली रहलऽ छै तिलकामाँझी…

गीतिका – धमपा / धर्मपा

गीतिका – धमपा / धर्मपा– कम-कुलिश माँझे भमई लेली । समता जोएँ जलिल चण्डाली ।। डाह डोम्बिधरे लागेलि आगी । ससहर लइ सिंचुहु पाणी।। णउ खरे जाला धूम ण दी सइ । मेरू सिहर लइ गअण पइ सइ ।। दाढइ हरिहर ब्राह्मण नाडा (भठ्ठा) । दाढँइ नव-गुण शासन पाडा (पट्ठा) ।। भणइ धाम फुड़ लेहुरे जाणी । पंचनाले ऊठे (ऊध) गेल पाणी ।। Angika Poetry :गीतिका (Geetika) Poetry from Angika Poetry Book : Poet : धमपा / धर्मपा (Dhampa / Dharmpa ) Reference Books / Articles : Hindi Kavya Dhara –  Mahapandit Rahul Sankritiyan, Angika Bhasha Aour Sahitya (Panchdash Lokbhasha Nibandhavali – Published by Bihar Rashtrabhasha Parishad, Patna in the year 1960) – Dr. Maheshwari Singh Mahesh संबंधित अंगिका समाचार पढ़ऽ / Read similar Angika News :बिहार केरऽ प्राइमरी इसकूली मं॑ माध्यम भासा के रूप…झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (जे.एस.एस.सी)- टी.जी.टी.…सरकार केरऽ अनुमति के बगैर ही चली रहलऽ छै तिलकामाँझी…प्रांतीय काव्योत्सव म॑ अंगिका कवि सब न॑ अर्पित करलकै…पटना संग्रहालय केरऽ होतै विस्तार, करलऽ जैतै राहुल…उमाकांत झा… Read More

अंगिका भाषा का साहित्यिक परिदृश्य

केवल लिखित साहित्य को ही आधार मानें तो अंगिका भाषा में साहित्य निर्माण की समृध्द परम्परा प्राचीन काल से ही सतत रूप से जारी है, जो प्रामाणिक रूप से पिछले तेरह सौ वर्षों के कालखंडों में बिखरा पड़ा है. महापंडित राहुल सांकृत्यायन के अनुसार हिन्दी भाषा के लिखित साहित्य का प्राचीनतम स्वरूप ‘अंग’ के प्राचीन सिध्द कवि ‘सरह’ की आठवी सदी में लिखी अंगिका-अपभ्रंश भाषा की रचनाओं में उपलब्ध है. अगर वैदिक संस्कृत में सृजित साहित्य के प्रारंभिक वर्षों को भारतीय भाषाओं में साहित्य लेखन की शुरूआत मानी जाय तो ‘अंगिका’ भाषा में साहित्य निर्माण का कार्य आज से चार हजार वर्ष पूर्व शुरू हो चुका था. अंगिका में लिखित एवं अलिखित दोनों ही तरह के साहित्य प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं. आज की स्थिति यह है कि अंगिका भाषा का अपना वेब पोर्टल अंगिका.कॉम बर्ष 2003 से अस्तित्व में हैं. साथ ही अंगिका भाषा में गुगल.क़ॉम जैसा विश्व के अव्वल दर्जे का सर्च इंजन… Read More

Angika Language

Angika Language Part – 1 *** Angika Language Part – 2 Angika Language (Part-2) – अंगिका भाषा (भाग -२) Angika is considered as one of the  oldest languages of Hindi family. According to Pundit Rahul Sankritiyayan, the evidences of oldest form of written Hindi literatures are available in the Sarah’s Angika poetries of 800 A.D. The first poet of Hindi literature, Saraha, was also the first poet of the Angika language and literature. Saraha belongs to the 8th century, and is the first poet whose poetry is available in written form. Classification : Indo European – Indo Iranian – Indo Aryan – Eastern zone – Bihari – Angika ISO 639-2 & ISO/DIS 639-3 Code for Angika Language : anp Angika is written in the Anga Lipi, Kaithi, and Devnagri scripts. Angika is among very few languages of India and world in which a Search Engine (Google-Angika) has been developed and is available for public use… Read More

error: Content is protected !!