Articles by: kundan

प्रभात खबर मास्टहेड पेंटिंग इंट्री में अंगिका व मंजूषा कला भी

पटना: देखो यह आकृति कितनी खूबसूरत है. इसे तो पहले साइड करके रख ले. इस दो पेंटिंग को देखो. अब तो पेंटिंग में मधुबनी कला के अलावा अंगिका व मंजूषा कला भी नजर आ रही है. इसे भी साइड करो. अरे, यह देखो, छोटे-छोटे बच्चे किस तरह इस पेंटिंग में खेल रहे हैं. सच कहूं, बच्चों ने पूरी लगन और प्रयास के साथ बनाया है. बिहार के प्रसिद्ध कलाकार श्याम शर्मा बच्चों की पेंटिंग देख कर काफी एक्साइटेड थे और सही पेंटिंग चुनने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रहे थे. किसी ने बिहार के डेवलपमेंट को दिखाया, तो किसी ने सौ साल के बिहार से जोड़ कर दिखाया. किसी ने इतिहास के पहलू को दिखाया, तो किसी ने कला के माध्यम से प्रभात खबर को पेश किया है. जोश, उत्साह और अपनी प्रतिभा को दिखाने में हर कोई एक दूसरे को पीछे छोड़ने में लगा रहा. मुश्किल तो तब आयी, जब इन तमाम पेंटिंग… Read More

लिखे हुए नोटों को स्वीकार नहीं किए जाने के बारे में फैलाई गई अफवाह पर ध्यान न दें : भारतीय रिजर्व बैंक

भारतीय रिजर्व बैंक ने लोगों से कहा है कि वे एक जनवरी 2014 से लिखे हुए नोटों को स्वीकार नहीं किए जाने के बारे में फैलाई गई अफवाह पर ध्यान न दें। एक अधिसूचना जारी कर रिजर्व बैंक ने कहा है कि बाजार में उड़ रही अफवाह को देखते हुए लोगों से अपील की जाती है कि वे इसका हिस्सा न बनें और अपने नोट का इस्तेमाल बिना किसी डर के करें। केंद्रीय बैंक ने कहा कि नोट पर लिखावट के कारण उसे स्वीकार नहीं करने के बारे में उसके तरफ से कोई निर्देश जारी नहीं किया गया है। इससे पहले के स्पष्टीकरण में रिजर्व बैंक ने बैंकों के कर्मचारियों को नोट पर कुछ नहीं लिखने का निर्देश दिया था। इसमें कहा गया था कि ऐसा देखा गया है कि नोट पर बैंक कर्मचारी ही लिखते हैं, जो आरबीआई की क्लीन नोट पॉलिसी के खिलाफ है। आरबीआई ने समाज के सभी वर्गों से कहा है… Read More

Bhojpuri will be made part of constitution, promises BJP

PATNA: Former deputy CM Sushil Kumar Modi on Sunday solicited the support of Bhojpuri-speaking people belonging to Bihar and other states, saying he would definitely strive for the inclusion of the language in the Eighth Schedule of the Constitution if the BJP comes to power at the Centre following the 2014 parliamentary elections. Modi, who was addressing the writers, litterateurs and others concerned during the concluding ceremony of the two-day silver jubilee convention of Akhil Bharatiya Bhojpuri Sahitya Sammelan (ABBSS), said that it was really unfortunate that Bhojpuri, even though spoken in several countries, had not yet been granted due constitutional recognition and honourable place in the comity of linguistic identities in the country. “I will also participate actively along with you in your struggle to gain constitutional recognition for Bhojpuri language, if the BJP government is formed at the Centre. In several countries, Bhojpuri is used even in official works,” Modi said. Interestingly, of… Read More

मंगल कॆ दागलकै भारत नॆ आपनॊ पहलॊ मंगलयान

मंगल कॆ दागलकै भारत नॆ आपनॊ पहलॊ मंगलयान

India’s first-ever mission to Mars launched into space today (Nov. 5), beginning the country’s first interplanetary mission to explore the solar system. With a thunderous roar, India’s Mars Orbiter Mission rocketed into space at 4:08 a.m. EST (0908 GMT) from the Indian Space Research Organisation’s Satish Dhawan Space Centre in Sriharikota, where the local time will be 2:38 p.m. in the afternoon. An ISRO Polar Satellite Launch Vehicle launched the probe on its 300-day trek into orbit around the Red Planet. “The journey has only just begun,” said ISRO Chairman K. Radhakrishnan after the successful launch. Less than an hour after liftoff, Radhakrishnan reported that India’s Mars probe successfully entered a staging orbit around Earth. Mars Orbiter Mission director Kunhi Krishnan describing the launch as a start to a “grand and glorious” mission. If all goes well, India’s first Mars orbiter — called Mangalyaan (Hindi for “Mars Craft”) — will arrive at the Red Planet… Read More

छठ महोत्सव की व्यापक तैयारी चरम पर

छठ महोत्सव की व्यापक तैयारी चरम पर

भागलपुर : आस्था व पवित्रता का प्रतीक महापर्व छठ के मौके पर महत्वपूर्ण घाटो में आयोजित होने वाले महोत्सव की व्यापक तैयारी की जा रही है। सूर्य उपासना का पर्व छठ बुधवार से शुरू होगा। छठ पूजा के लिए शहर में चूल्हों की दुकानें भी सज गई हैं। डॉ. राजेंद्र प्रसाद रोड में छठ पूजा के लिए तैयार किए गए खास चूल्हे उपलब्ध हैं। इन चूल्हों की कीमतें साइज व वजन के हिसाब से निर्धारित की गई हैं। चूल्हे के कारोबारियों के अनुसार लकड़ी से जलने वाला चूल्हा टीन की चादर से निर्मित किया गया है। चादर से बने अधिकांश चूल्हे देवघर से मंगाए जाते हैं। इस चूल्हे की कीमत 200 से 550 रुपये तक है। इसके अलावा सिर्फ मिट्टी से बने चूल्हे भी बाजार में मौजूद हैं। मिट्टी से निर्मित चूल्हों की कीमत 60 से 70 रुपये के बीच है। लोहा पट्टी में भी देवघर के चूल्हो की बिक्री होती है। लोहा पट्टी में… Read More

सुखरात मॆं आतिशबाजी सॆं निजात

सुखरात मॆं आतिशबाजी सॆं निजात

हर साल जबॆ सुखरात (दिवाली) आबै वाला रहै छै आरू आबी कॆ चल्लॊ जाय छै, इ मुद्दा चरम चर्चा मॆ रहै छै कि आतिशबाजी आरू आतिशबाजी जनित प्रदूषण सॆं केना निजात पैलॊ जाय. तरह-तरह के तर्क-वितर्क, तरह-तरह के बयानबाजी, तरह-तरह के पाबंदी के दौर चलै छै. तमाम तरह के विनम्र आग्रह भी करलॊ जाय छै. शुरू मॆ एन्हॊ प्रतीत होय छै कि शायद अबरी दाफी आतिशबाजी नियंत्रण मॆं रहतै. एन्हॊ भी अनुमान लगै छै कि बढ़तॆं मँहगाई के चलतॆं एकरा पर कुछू लगाम लगतै. धीर मॊन अधीर होय जाय छै जबॆ सब चीज कॆ धता बतलैतॆं छोटी दिवाली के रात सॆं ही आतिशबाजी केरॊ अंतहीन सॆं नजर आबै वाला दौर शुरू होय जाय छै. करोङॊं रूपया आगिन मॆं झोंकी देलॊ जाय छै. भारतीय क्रिकेट टीमॊ द्वारा विभिन्न अन्तराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, आय.पी. एल. मैच जीतला पर आतिशबाजी केरॊ प्रदर्शन तॆं होतै छै,  पर दिवाली मॆं आतिशबाजी आपनॊ चरम पर रहै छै. एकरा सॆं कि इ  बात  साफ होय  छै कि आतिशबाजी आरो आतिशबाजी जनित… Read More

Mumbai under threat from climate change

Mumbai under threat from climate change

India is one of the top 20 economies impacted by the change in weather conditions. Furthering the daunting picture painted by the changing atmospheric conditions, the latest report by risk consultancy firm Mapelcroft has Mumbai among its list of cities that are at extreme physical and economic risk due to changes in climactic conditions. According to it, Mumbai’s proximity to the coast and the surrounding hilly terrain are the reasons why it is featured in Maplecroft’s sixth annual Climate Change Vulnerability Index. “Pollution generated locally is usually swept away by wind blowing in from the sea. In Mumbai’s case, however, it is surrounded by hilly terrains and numerous mountain ranges that lock this air within the area. Also, the extreme humidity tends to hold on to particulate matter for a longer time. We think it’s factors that put it at risk of extreme weather events and climate change,” explained Gufran Beig, scientist at the Indian… Read More

हर्षोउल्लास के बीच बिहार में मनाई गई दिवाली

हर्षोउल्लास के बीच बिहार में मनाई गई दिवाली

पटना, 3 नवंबर :भाषा: हाल में हुए सिलसिलेवार धमाके से बेपरवाह बिहार वासियों ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंध के बीच प्रकाश का पर्व दिवाली आज हषरेल्लास के साथ मनाया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस अवसर पर आज शाम अपने हाथों से पटना के एक अणे मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर दीप प्रज्वलित किए। Source : http://www.bhasha.ptinews.com/news/953697_bhasha संबंधित अंगिका समाचार पढ़ऽ / Read similar Angika News :झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (जे.एस.एस.सी)- टी.जी.टी.…अंगिका को अष्टम अनुसूची में शामिल करने की आनाकानी…Talk Manjhi – The First Freedom Fighter of Indiaक्या आज प्रधानमंत्री अंगिका को अष्टम अनुसूची में…रंगों का पर्व होली सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्नइंगलैंड के अंतर्राष्ट्रीय बहुभाषीय संगोष्ठी में…अंगिका काव्य और कविकहाँ छै लापता मलेशियाई विमान MH370 ?Angika Languageअंगिका भाषा का साहित्यिक परिदृश्य

Let there be light, not noise and nausea this Diwali

Let there be light, not noise and nausea this Diwali

Many people are flying into foreign shores to escape Diwali pollution, which hits humans and birds alike. Sudha Nair (30), a chartered accountant staying in Andheri, has left the city to spend a week with her family in London. An asthmatic, Sudha’s visit abroad is a way of escaping the rising pollution level in the city during Diwali. Doctors confirm that many like Sudha prefer to take a Diwali break in foreign countries to escape the air and noise pollution in the city. The city sees a three-fold rise in respiratory cases during Diwali. Dr Jalil Parker, chest physician at Lilavati hospital, said, “Many of my asthma patients go abroad to avoid air pollution during Diwali due to bursting of firecrackers. The ones who can’t afford to go abroad prefer a village stay where there is lesser pollution and more fresh air.” Experts say asthma patients, who can’t leave the city, must remain well-prepared. “Apart… Read More

Deepavali celebrations: Exercise caution, say doctors

Deepavali celebrations: Exercise caution, say doctors

Deepavali draws people together. However, like every coin has two sides, this festival too has two aspects. Apart from the excitement quotient the festival brings, the deafening noise of firecrackers has definitely become a cause for concern. While any indulgence is addictive, it is equally imperative to be considerate towards others. Keeping this in view, some plan to celebrate the festival in a subdued fashion. Consultant ophthalmic surgeon R. Ahi Krishna says he would always discourage his children from bursting crackers. “There are many ways to celebrate the festival of lights. You can invite guests and throw a surprise party, organise theme-based games to entertain family members, spend special moments with friends, and so on and so forth. When I meet my friends, I make sure they join hands to celebrate the festival minus the noise,” the doctor explains. Eye care Eye specialists say firecrackers are liberally loaded with sulphur and potassium nitrate that leave… Read More

error: Content is protected !!