रोहिंग्या समस्या समाधान केरऽ पेच

अबरी दाफी (अंगिका कॉलम) / कुंदन अमिताभ

अनेक तरह केरऽ राष्ट्रीय समस्या के बीच अचानक स॑ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर केरऽ रोहिंग्या मुसलमान केरऽ समस्या न॑ भारत म॑ अपनऽ पैर पसारी लेन॑ छै । मूल रूप स॑ पिछला सात सौ साल स॑ म्यांमार म॑ रही रहलऽ रोहिंग्या मुसलमान वहाँकरऽ सुरक्षा बलऽ के दमनकारी कार्रवाई के चलत॑ अपनऽ देश स॑ भागी क॑ बांग्ला देश आरू भारत म॑ शरण लै लेली मजबूर होलऽ छै । भारत न॑ म्यांमार स॑ ऐलऽ करीब चालीस हजार रोहिंग्या मुसलमानऽ क॑ देश म॑ पनाह दै स॑ इनकार करी देन॑ छै । बांग्ला देश केरऽ भी यह॑ कहना छै कि ओकरा लेली रोहिंग्या मुसलमान क॑ अपनऽ देश म॑ शरण देना मुमकिन नै छै ।

हुन्न॑ म्यामांर केरऽ सुरक्षा बलऽ प॑ मानवाधिकारऽ केरऽ उल्लंघन के आरोप लगी रहलऽ छै । वहीं भारत केरऽ रवैय्या प॑ यूएन ह्यूमन राइट्स काउंसिल न॑ निंदा करत॑ एतराज जतैल॑ छै कि भारत कलेक्टिव एक्सपल्शन (सामूहिक निष्कासन) नै कर॑ सक॑ छै । भारत ई लोगऽ क॑ ऐसनऽ जगह पर वापस नै भेज॑ सकै छै जहां ओकरा प॑ अत्याचार करलऽ जाय ।  यूएन ह्यूमन राइट्स काउंसिल न॑ अफसोस जतैल॑ छै कि जब॑ रोहिंग्या लोगऽ प॑ ओकरऽ देश म॑ ऐसनऽ हिंसा होय रहलऽ छै तब॑ भारत ऐसनऽ कदम उठाय रहलऽ छै ।

म्यांमार  जे कि एगो बौद्ध बहुल देश छेकै म॑ करीब दस लाख रोहिंग्या मुसलमान रहै छै । रोहिंग्या क॑ मुख्य रूप स॑ अवैध बांग्लादेशी प्रवासी मानलऽ जाय छै । म्यांमार सरकार न॑ ई समुदाय केरऽ लोगऽ के नागरिकता छीनी लेन॑ छै ।

रोहिंग्या मुसलमान म्यांमार केरऽ रखाइन प्रांत म॑ सदियों स॑ बसलऽ छै । मूल रूप स॑ ई सब सुन्नी मुसलमान छेकै । कहलऽ जाय छै कि रोहिंग्या मुसलमान बारहवीं सदी म॑ म्यांमार चललऽ गेलऽ छेलै । ब्रिटिश शासन केरऽ दौर म॑ १८२४ स॑ १९४८ तलक भारत आरू बांग्लादेश स॑ बड़ऽ संख्या म॑ मजदूर म्यांमार म॑  ल॑ गेलऽ गेलै । चूंकि म्यांमार भी तखनी ब्रिटेन केरऽ उपनिवेश छेलै ई लेली वू ओकरा भारत केरऽ ही एगो राज्य मानै छेलै ।यह॑ वजह स॑ तब॑ ई आवाजाही क॑ देश केरऽ आंतरिक आवाजाही ही मानत॑ रहलऽ गेलै । अंग्रेज स॑ आजादी मिलला के बाद म्यांमार केरऽ सरकार न॑ ई प्रवास क॑ अचानक स॑ अवैध घोषित करी देलकै ।

१९४८ म॑ म्यांमार के आजादी के बाद देश केरऽ नागरिकता कानून बनैलऽ गेलै । जेकरा म॑ रोहिंग्या मुसलमान क॑ शामिल नै करलऽ गेलै । यह॑ आधार पर बाद म॑ रोहिंग्या मुसलमानऽ के नागरिकता समाप्त करी देलऽ गेलै । जे लोग दू पीढ़ियऽ स॑ रही रहलऽ छेलै ओकरऽ पहचान पत्र बनैलऽ गेलै । बाद म॑ सन १९६२ म॑ म्यांमार म॑ सैन्य विद्रोह होला के बाद रोहिंग्या मुसलमानों केरऽ खराब दिन शुरू होय गेलै । ओकरा सब क॑ विदेशी पहचान पत्र ही जारी करलऽ गेलै ।  सन १९८२ म॑ एगो आरू नागरिक कानून वजूद म॑ ऐलै । ई कानून केरऽ आड़ म॑ रोहिंग्या मुसलमानऽ के नागरिकता हर तरह स॑ छीनी लेलऽ गेलै ।  ई कानून स॑ शिक्षा, रोजगार, यात्रा, विवाह, धार्मिक आजादी आरू स्वास्थ्य सेवा केरऽ लाभ स॑ भी ओकरा सब क॑ महरूम करी देलऽ गेलै । म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों पर बहुत तरह के बंदिश छै, ओकरा बिना अधिकारियऽ के अनुमति के देश केरऽ दोसरऽ हिस्सा म॑ आबै-जाबै  के अनुमति नै छै ।

ताजा समस्या के शुरूआत तब॑ स॑ आरंभ होलऽ मानलऽ जाय छै जब॑ म्यांमार म॑ पिछला माह मौंगडोव सीमा पर नौ पुलिस अधिकारियऽ के हत्या होय गेलऽ रहै । एकरऽ बाद रखाइन स्टेट म॑ म्यांमार केरऽ सुरक्षा बलऽ न॑ बड़ऽ कार्रवाई शुरू करलकै । सरकार केरऽ दावा छै कि रोहिंग्या मुसलमानऽ द्वारा पुलिस पर हमला करलऽ गेलै । सुरक्षा बलऽ न॑ मौंगडोव जिला की सीमा सील करी देल॑ छै आरू वू व्यापक स्तर प॑ अभियान चलाय रहलऽ छै । ई कार्रवाई म॑ सौ स॑ जादे लोग मारलऽ जाय चुकलऽ छै । म्यामांर केरऽ सुरक्षा बलऽ प॑ मानवाधिकार के उल्लंघन के आरोप लगी रहलऽ छै । सैन्य कर्मियऽ पर बलात्कार आरू हत्या केरऽ आरोप भी लगलऽ छै । बतैलऽ जाय छै कि रोहिंग्या समुदाय प॑ हेलिकॉप्टरऽ स॑ भी हमला करलऽ जाय रहलऽ छै । रोहिंग्या मुसलमानऽ केरऽ अनेक घरऽ क॑ भी तोड़लऽ गेलऽ छै । यहाँ तलक कि नोबेल विजेता आंग सान सू ची केरऽ पार्टी नेशनल लीग फोर डेमोक्रेसी भी रोहिंग्या मुसलमानऽ क॑ देश स॑ बाहर खदेड़ै के मामला म॑ शामिल छै ।  दुनिया भर म॑ एकरऽ आलोचना होय रहलऽ छै ।

भारत न॑ साफ-साफ कहल॑ छै कि वह म्यांमार स॑ अवैध तरीका स॑ घुसी ऐलऽ रोहिंग्या मुस्लिमऽ केरऽ शरणस्थली नै बनतै । रोहिंग्या अवैध अप्रवासी छेकै आरू ओकरा म॑ कुछ आतंकवादी भी हुअ॑ सकै छै ।ओकरा ओकरऽ देश भेजलऽ जाना चाहियऽ । भारत म॑ करीब ४० हजार रोहिंग्या शरणार्थी छै ।

वहीं सुषमा स्वराज न॑ कहल॑ छै कि रोहिंग्या मुस्लिम अकेल्ले बांग्लादेश केरऽ समस्या नै छेकै । हुनी बांग्लादेश क॑ भरोसा दिलैन॑ छै कि ई बारे म॑ म्यांमार सरकार स॑ लगातार बात करलऽ जाय रहलऽ छै । विदेश मंत्री न॑ कहल॑ छै कि बाइलेटरल आरू मल्टीलेटरल चैनल्स के जरिया  म्यांमार पर दबाव बनैलऽ जाय रहलऽ छै ओकरऽ द्वारा रोहिंग्या लोगऽ के निष्कासन बंद करलऽ जाय आरू बांग्लादेश म॑ शरण लेलऽ  लोगऽ क॑ वापस बुलाब॑ ।

म्यांमार म॑ हिंसा के बाद रोहिंग्या मुस्लिमऽ न॑ कॉक्स बाजाहर आरू तेकनाफ बॉर्डर प॑ कैम्पऽ म॑ शरण ल॑ रखल॑ छै । ई लोगऽ के पास खाय व रहै के आरू दवा आदि के समस्या छै । पीयै लेली साफ पानी आरू सेनिटेशन फैसिलिटी भी नै छै ।

यूनाइटेड नेशंस केरऽ रिफ्यूजी एजेंसी के मुताबिक, म्यांमार हिंसा के बाद रेखाइन स्टेट स॑ ४ लाख शरणार्थी बांग्लादेश पहुंचलऽ छै । लेकिन, यहाँ पहल॑ स॑ ही जगह के कमी छै । साढ़े तीन लाख शरणार्थी क॑ खुललऽ आसमान के नीचें रहै ल॑ पड़ी रहलऽ छै ।

समस्या केरऽ समाधान ई बात प॑ भी निर्भक करै छै कि शेख हसीना, यूनाइटेड नेशन केरऽ ७२वाँ जनरल असेंबली सेशन म॑ कोफी अन्ना कमीशन के रिकमंडेशन जल्द लागू करै के प्रपोजल क॑ केतना ठोस तरीका स॑ रखै छै । ई प्रपोजल म॑ रोहिंग्या के साथ-साथ रेखाइन बुद्धिस्थ क॑ बाहर निकालै जाय के ल॑ क॑ सही कदम उठाबै के, ह्यूमनटेरियन ग्रुप्स केरऽ देश म॑ इंट्रेंस, रोहिंग्या मुस्लिमऽ के नागरिकता के समस्या दूर करै आरू १९८२ सिटिजनशिप लॉ लागू करै, ह्यूमन राइट्स के उल्लंघन करै वाला क॑ सजा दै केरऽ, फ्रीडम ऑफ मूवमेंट प॑ रोक खत्म करै जैसनऽ रिकमंडेशन करलऽ गेलऽ छै।

भारत म॑ रोहिंग्या केरऽ मसला तब॑ गरमैलै जब॑ जुलाय म॑ होम मिनिस्ट्री न॑ कहलकै कि अवैध अप्रवासी जैसनऽ रोहिंग्या मुस्लिम सिक्युरिटी लेली बड़ऽ चुनौती छै । अंदेशा वयक्त करलऽ गेलै कि एकरा सब क॑ एगो साजिश के तहत टेरर ग्रुप्स न॑ रिक्रूट करी क॑ भड़काय क॑ भारत दन्न॑ आबै ल॑ योजना बनैल॑ हुअ॑। केंद्र न॑ राज्य सरकारऽ स॑ ई अवैध अप्रवासियऽ के पहचान करै आरू देश स॑ बाहर भेजै के निर्देश देलऽ गेलै । एकरा लेली डिस्ट्रिक्ट लेवल प॑ टास्क फोर्स बनाबै के निर्देश भी देलऽ गेलै । गृह मंत्री न॑ कहन॑ छेलै कि केंद्र सरकार अवैध शरणार्थियऽ के खिलाफ सख्त कार्रवाई करतै, लेकिन पाकिस्तान, बांग्लादेश  आरू अफगानिस्तान केरऽ अल्पसंख्यकों के साथ सहानुभूति भी छै, जे भारत म॑ शरण लेन॑ छै । कुछ लोग ई तथ्य के आधार प॑ ही कही रहलऽ छै कि मानवीय आधार प॑ रोहिंग्या मुसलमान क॑ भी भारत म॑ शरण दै म॑ कोनो आपत्ति नै होना चाहिय्यऽ ।

ई बीच दू रोहिंग्या अप्रवासी, मोहम्मद सलीमुल्लाह आरू मोहम्मद शाकिर जे यूएनएचसीआर (UNHCR) के तहत शरणार्थी केरऽ रूप म॑ रजिस्टर करलऽ गेलऽ छै न॑ सुप्रीम कोर्ट म॑ रोहिंग्या लोगऽ के निष्कासन के सरकार केरऽ फैसले के खिलाफ पिटीशन दायर करी देलकै । पिटीशन म॑ कहलऽ गेलऽ छै कि चूँकि हुनी सब लोगऽ न॑ म्यांमार म॑ फैललऽ हिंसा के बाद इंडिया म॑ शरण लेन॑ छै । इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स कन्वेंशंस केरऽ लिहाज स॑ हिनका सब के निर्वासन (डिपोर्टेशन) नै करलऽ जाब॑ सकै छै ।

सुप्रीम कोर्ट न॑ सरकार स॑ ई पिटीशन के संबंध म॑  एफिडेविट फाइल करै ल॑ कहन॑ छै । रोहिंग्या मुस्लिमों करऽ निष्कासन केरऽ योजना पर सुप्रीम कोर्ट म॑ एफिडेविट जल्दिये फाइल करलऽ जैतै, ऐन्हऽ आशा छै ।

भारत केरऽ अब तलक के हरकत प॑  ह्यूमन राइट्स काउंसिल ३६वाँ सेशन म॑ ऑफिशियल जैद राद अल हुसैन न॑ निंदा करलकै त॑ यूएन म॑ भारत केरऽ पर्मानेंट रिप्रेजेंटेटिव सैयद अकबरुद्दी न॑ कहलकै कि भारत क॑ ई बात के दुख छै कि यूनाइटेड नेशंस केरऽ बॉडी (ह्यूमन राइट हाई कमिश्नर) म॑ आतंकवाद केरऽ असल समस्या क॑ नजरंदाज करी देलऽ गेलै ।

सरकार क॑ अनुमान के हिसाब स॑ भारत म॑ अखनी १४ हजार रोहिंग्या ऐसनऽ छै, जे यूएनएचसीआर (UNHCR) स॑ रजिस्टर्ड छै । हलांकि,एगो दोसरऽ अनुमान के हिसाब स॑ चालीस हजार रोहिंग्या भारत म॑ अवैध तरीका स॑ रही रहलऽ छै जे जम्मू, हैदराबाद, हरियाणा, यूपी, दिल्ली-एनसीआर आरू राजस्थान म॑ छिरियैलऽ छै ।

उलझलऽ समस्या के बीच भारत फिलहाल बांग्ला देश म॑ शरण लेलऽ रोहिंग्या शरणार्थी लेली राहत साम्रगी भेजी क॑ कुछ जरूरी सहायता पहुँचै के मानवीय धर्म केरऽ जिम्मेवारी क॑ निभाबै म॑ जुटलऽ छै । आरू यहाँ अपनऽ देश म॑ ई मुद्दा प॑ सब पार्टी स॑ बात करै के फैसला लेन॑ छै ।

जाहिर छै ई समस्या केरऽ स्थाई समाधान जरूरी छै । कैन्हेंकि  रोहिंग्या मुसलमान भी इंसान छेकै । आरू हर इंसान क॑ ई धरती प॑ इज्जत आरू आजादी के साथ जियै के हक छै । जरूरत छै कि यू.एन. तमाम देश क॑ एक साथ ल॑ सक्रिय रूप स॑ ई समस्या केरऽ स्थाई समाधान खोज॑ ।