दिल्ली । ग्रामीण व शहरी क्षेत्रऽ के सब्भे घऽर तलक बिजली पहुंचाबै लेली प्रधानमंत्री न॑ आय ‘सौभाग्य’ योजना के शुरुआत करलकै । पीएम न॑ प्रसिद्ध विचारक दीनदयाल उपाध्याय केरऽ जयंती प॑ देश क॑ ई महत्वपूर्ण योजना के सौगात देलकै । सौभाग्य योजना केरऽ मतलब ‘प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना’ छेकै । ई योजना के तहत हर गांव, हर शहर केरऽ हर घर तलक बिजली पहुंचाबै के लक्ष्य रखलऽ गेलऽ छै । ३१ मार्च २०१९ तलक ई योजना के पूरा करै के लक्ष्य रखलऽ गेलऽ छै ।

angika_language_news_saubhagya_narendra_modi_pm
सौभाग्य योजना केरऽ आरंभ करत॑ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जेकरऽ नाम गरीब जनगणना म॑ नै  वू  ५०० रुपया के भुगतान करी क॑ बिजली के कनेक्शन हासिल कर॑ सकतै

ई योजना के तहत २०११ ई. केरऽ सामाजिक आर्थिक आरू जाति जनगणना म॑ दर्ज गरीब सिनी क॑ बिजली केरऽ कनेक्शन फ्री देलऽ जैतै । जेकरऽ नाम ई जनगणना म॑ नै छै वू भी ५०० रुपया के भुगतान करी क॑ बिजली केरऽ कनेक्शन हासिल कर॑ सकतै । ई राशि क॑ १० किस्तऽ म॑ बिजली के बिल के रूप म॑ लेलऽ जैतै ।

बिजली सथ॑ बैट्री बैंक भी देलऽ जैतै

सौभाग्य योजना के तहत सुदूर व दुर्गम क्षेत्र म॑ बिजली स॑ वंचित आवास क॑  बैट्री बैंक भी उपलब्ध करैलऽ जैतै । जेकरा म॑ २०० स॑ ३०० डब्ल्यूपी केरऽ सोलर पावर पैक रहतै, जेकरा म॑ पाँच एलईडी लाइट, एक डीसी पंखा, एक डीसी पावर प्लग आरू ५ साल लेली मरम्मत भी शामिल छै ।

योजना के तहत बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उड़ीसा, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान व पूर्वोत्तर राज्य शामिल

सौभाग्य योजना के तहत बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उड़ीसा, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान व पूर्वोत्तर राज्य शामिल होतै । सौभाग्य योजना के कुल बजट १६३२० करोड़ रुपया रखलऽ गेलऽ छै । एकरा म॑ सरकारी सहायता के तौर पर १२३२० करोड़ रुपया के व्यवस्था करलऽ गेलऽ छै ।  ग्रामीण घरऽ म॑ बिजली पहुंचाबै  पर १४०२५ करोड़ आरू शहरी आवासऽ प॑ १७३२ करोड़ रुपया खर्च करलऽ जैतै ।

Comments are closed.

error: Content is protected !!