पटना । १७-११-२०१८ । बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन आरू विश्व अंगिका साहित्य सम्मेलन केरऽ संयुक्त प्रयास स॑ कल १८ नवम्बर क॑ अंगिका आरू हिन्दी केरऽ साहित्यकार पं बुद्धिनाथ झा ‘कैरव’ के जयंती आरू ‘अंगिका महोत्सव’ के आयोजन करलऽ गेलऽ छै ।

ई एक दिवसीय महोत्सव म॑ अंगिका समेत सब्भे लोक-भाषा में मूल्यवान सृजन लेली दू दर्जन सें अधिक विदुषी आरू विद्वानऽ सिनी क॑ कपिल सिंह मुनि अंग विभूति सम्मान सें अलंकृत करलऽ जैतै । उद्घाटन आरू वैचारिक सत्र के बाद लोक-भाषा कवि-सम्मेलन आयोजित होतै ।

साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. अनिल सुलभ न॑ बतैलकै कि महोत्सव में बिहार केरऽ विभिन्न जिला सें २०० सें अधिक साहित्य-सेवी भाग ल॑ रहलऽ छै । ई अवसर पर कवयित्री सविता देवी के गीत-संग्रह ‘अंगिका लोक गीत’ आरू ‘अबकी मइयाँ ऐंहें ज़रूर’ आऱू ‘ओझा रे टोली के शीतला गे मइयां’ नामक ऑडियो एलबम के लोकार्पण करलऽ जैतै । जेकरा म॑ गायक शक्ति सिंह, प्रियंका मिश्र आरू डॉ. आर. प्रवेश न॑ स्वर देल॑ छै ।

Comments are closed.

error: Content is protected !!