भागलपुर । बिहार अंगिका अकादमी केरऽ अध्यक्ष, डॉ. (प्रो.) लखनलाल सिंह आरोही न॑ तिलकामाँझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ पी.जी. अंगिका केरऽ कोर्स क॑ यू.जी.सी. सें मान्यता दिलाबै के अनुरोध करल॑ छै । जेकरा सें कि यहाँ स॑ पी.जी.अंगिका सें पास करी क॑ निकलै वाला विद्य़ार्थी सब केरऽ कैरियर बर्बाद होला सें बचैलऽ जाब॑ सक॑ ।

तिलकामाँझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ कुलपति क॑ लिखलऽ गेलऽ आजकऽ पत्र में अंगिका अकादमी केरऽ अध्यक्ष, डॉ. (प्रो.) लखनलाल सिंह आरोही न॑  पी.जी. अंगिका केरऽ कोर्स क॑ यू.जी.सी. सें मान्यता दिलाबै के अनुरोध करत॑ हुअ॑ कहल॑ छै कि यहाँ सें अंगिका में गोल्ड-मेडलिस्ट करलऽ विद्यार्थी भी नेट करऽ परीक्षा में नै बैठ॑ सकै छै  । जेकरा सें कि यहाँ स॑ पी.जी.अंगिका सें पास करी क॑ निकलै वाला विद्य़ार्थी सब केरऽ कैरियर प्रभावित होय रहलऽ छै ।angika_ang_angika_language

तनी देर पहलें हुनी अंगिका.कॉम सें बातचीत केरऽ क्रम में इ बात बतैलकै । हुनी कहलकै कि हुनी पहल॑ भी यू.जी.सी. सें ई संबंध में पत्राचार करल॑ छै, लेकिन अखनी तलक कोय जबाब केरऽ ही इंतजार छै । चूँकि ई तिलकामाँझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ  कुलपति आरू कुलाधिपति केरऽ प्राधिकार में आबै छै, ई लेली हुनी कुलपति सें ई दिशा म॑ चेष्टा करै के अनुरोध करल॑ छै ।

Comments are closed.

error: Content is protected !!