4 months ago
उधाडीह गाँव मँ मनैलौ गेलै शौर्य चक्रधारी अंग गौरव शहीद निलेश कुमार नयन केरौ शहादत दिवस | New in Angika
4 months ago
गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड मँ जग्घौ बनाबै लेली आय 122 भाषा के गाना कार्यक्रम मँ अंगिका मँ भी गैतै पुणे केरौ मंजुश्री ओक | News in Angika
4 months ago
अंगिका भाषा क आठमौ अनुसूची मँ दर्ज कराबै लेली दिसम्बर मँ दिल्ली मँ होय वाला आन्‍दोलन क सफल बनाबै के करलौ गेलै आह्वान | News in Angika
4 months ago
अंगिका आरू हिन्दी केरौ वरिष्ठ कवि व गीतकार, कविरत्न महेन्द्र प्र.”निशाकर” “दिनकर सम्मान” सँ सम्मानित  | News in Angika Angika
5 months ago
चाँद पर विक्रम लैंडर के ठेकानौ के लगलै पता, पर अखनी नै हुअय सकलौ छै संपर्क | ISRO found Vikram on surface of moon, yet to communicate | Chandrayaan 2 | News in Angika

मुंबई। बॉलीवुड के मशहूर फिल्मकार-अभिनेता सतीश कौशिक ब्लॉकबस्टर फिल्म शोले का प्रीक्वल बना सकते हैं। बॉलीवुड में चर्चा है कि सतीश कौशिक शोले के प्रीक्वल के लिए जयंती लाल गाडा से बातचीत कर रहे हैं। जयंती लाल गाडा की शोले थ्रीडी 3 जनवरी को प्रदर्शित हुई है। चर्चा है कि शोले के प्रीक्वल की कहानी लेखक शांतनु धर की किताब द कंपनी रेड पर आधारित होगी।

सतीश कौशिक का कहना है कि इस किताब में बताया गया है कि क्यों एक पुलिस वाला ठाकुर बलदेव सिंह बन गया। सतीश कौशिक का मानना है कि ठाकुर बलदेव सिंह का किरदार सलमान खान या अजय देवगन बेहतर तरीके से निभा सकते हैं।

 [wzslider autoplay=”true”]

1975 में प्रदर्शित शोले में ठाकुर बलदेव सिंह का किरदार संजीव कुमार ने निभाया था। रमेश सिप्पी के निर्देशन में बनी इस फिल्म में संजीव कुमार के अलावा धमेंद्र, अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी, जया भादुड़ी और अमजद खान ने भी मुख्य भूमिका निभाई थी।

बॉलीवुड की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘शोले’ हाल ही में 3 डी फॉरमेट में फिर रिलीज हुई है। 2 करोड़ की लागत से बनी ओरिजनल ‘शोले’ को 3 डी में रिलीज करने की लागत आई है करीब 20 करोड़ रुपये। अमिताभ ने इस फिल्म में जय का किरदार निभाया था। जिसे लोग आज भी याद करते हैं। जय के दोस्त वीरु के किरदार में थे धर्मेंद्र। दोनों कलाकारों ने एक चोर की भूमिका निभाई थी। ठाकूर बलदेव सिंह का किरदार संजीव कुमार ने निभाया था। डाकूओं ने उनके परिवारवालों को मार डाला था और उनके दोनों हाथ काट दिए थे। हेमा मालिनी ने बसंती की किरदार निभाया था। जो रामगढ़ में टांगा चलाती थी। गब्बर के किरदार को अमजद खान ने जीवंत किया था। ये रोल अमिताभ को इतना पसंद था कि वो खुद करना चाहते थे। राधा के किरदार में जया भादुड़ी ने काफी दमदार भूमिका निभाई थी। बसंती की आंटी का रोल भी काफी मजेदार था, जो बसंती और वीरु के शादी के खिलाफ थी। फिल्म में सूरमा भोपाली का किरदार भी काफी लोकप्रिय हुआ था।  असरानी का डॉयलाग ‘अंग्रेजों के जमाने के जेलर’ लोगों को आजतक नहीं भूले हैं। रामगढ़ के रहीम चाचा का किरदार भा काफी अहम था।

(Source: http://khabar.ibnlive.in.com/news/114564/6)

Comments are closed.

error: Content is protected !!