मेहरमा (गोड्डा) संसू: प्रखंड क्षेत्र अन्तर्गत विरामचक गांव के सौजन्य से सोमवार को शिव गुरू परिचर्चा का भव्य आयोजन किया गया। जिसमें शिव गुरुक्षेत्रिय
समिति पिरोजपुर, बाराहाट, ईशीपुर के शिव गुरु भाइयों की सहभागिता महत्वपूर्ण रही।

कार्यक्रम का शुभारंभ हर भोला-हर भोला भजन के साथ दिनेश शर्मा ने किया। वही गीतकार योगेश कौशल ने स्वरचित गीत गाया। शिव गुरू भव के नाविक नैया, जगत सिंधु के परम खेबैया।

अंगिका के वीरेन्द्र मंडल ने स्वर छेड़ते हुए कहा कि भइया-बहना गे, शिव के गुरू बनाय लै। वही भोजपुरी में स्वर छेड़ते हुए गोपाल श्रीवास्तव ने कहा कि भोला बाबा अईसन जग में गुरु ना मिलिए हो भइया-बहना।

शिव चर्चा में योगेन्द्र ने कहा आज के परिवेश में शिव गुरु की गंगधारा बड़ी तेजी से बह रही है। शिव को अपनाइए ओर गुरुबनाइए। उदय सिन्हा ने कहा अगर हम गुरु की पूजा नहीं करते हैं तो सभी पूजा बेकार है। गुरु की पूजा हुई तो समझिए सभी देवों की पूजा हो गयी। क्षेत्रिय समिति के जनसंपर्क अधिकारी योगेश कौशल ने बताया कि बीमारचक में 160 व्यक्ति शिव गुरु के शिष्य-शिष्या बने। वही वाद्ययंत्र पर त्रिपुरारी, कमलेश्वर और ऋषभ की भूमिका सराहनीय रही।

अंत में समिति के अध्यक्ष अशोक यादव ने शिव भक्तों व गुरु भाइयों को धन्यवाद दिया।

Comments are closed.

error: Content is protected !!