वाशिंगटन। पिछला २० साल स॑ शनि ग्रह केरऽ चक्कर लगाय रहलऽ अंतरिक्ष यान कैसिनी १३ सितंबर,२०१७ क॑ नष्ट होय गेलै ।

कासिनी न॑ ११ लाख ३० हजार किलोमीटर प्रति घंटा के तेज रफ्तार के साथ शनि केरऽ वायुमंडल म॑ प्रवेश करलकै आरू चंद सेंकेड म॑ जली क॑ नष्ट होय गेलै ।

शनि केरऽ चंद्रमा प॑ जीवन के प्रबल संभावना के चलत॑ यान क॑ जानी बूझी क॑ शनि के वायुमंडल म॑ प्रवेश करैलऽ गेलै

तीन अरब डालर केरऽ ई यान क॑ जानी बूझी क॑ शनि केरऽ वायुमंडल म॑ प्रवेश करैलऽ गेलै कैन्हेंकि वैज्ञानिकऽ के ऐसनऽ मानना छेलै कि ईंधन खत्म होय चुकलऽ ई यान क॑ जों ऐन्हैं छोड़ी देलऽ जाय छै त॑ ओकरऽ शनि के चंद्रमा टाइटन या फिर पॉलीड्यूसेस स॑ टकराबै के आशंका छेलै । वैज्ञानिकऽ के अनुसार हुनी सब ऐसनऽ नै चाहै छेलै कैन्हेंकि शनि केरऽ ई दूनू चंद्रमा प॑ जीवन केरऽ अंश होय के प्रबल संभावना छै जेकरा कोनो तरह के नुकसान पहुंचाबै के खतरा वू नै उठाबै ल॑ चाहै छै ।

[wzslider autoplay=”true”]

Comments are closed.

error: Content is protected !!