2 days ago
COVID-19 : बाहर सँ लानलौ तरकारी व समान के उपयोग के सुरक्षित तरीका की छेकै ?
1 month ago
अंगिका भाषा क संविधान केरौ ८मो अनुसूची आरू बिहार केरौ दोसरौ राज्यभाषा के श्रेणी मँ शामिल करबाबै ल मुख्यमंत्री, विधि मंत्री सँ माँग
1 month ago
जनगणना मँ अपनौ नामौ सथें मातृभाषा के कॉलम मँ अंगिका जरूर दर्ज करैइयै : अंगिका निवेदन पत्र, नेपाली गीत गोष्ठी
1 month ago
अंगिका क संविधान केरौ ८मो अनुसूची मँ डलबाबै आरू बिहार केरौ दोसरौ राजभाषा के रूपौ मँ मान्यता दिलाबै तलक जारी रहतै संघर्ष – प्रीतम विश्वकर्मा कवियाठ
1 month ago
अंगिका क संविधान केरौ ८ मो अनुसूची मँ आरू बिहार केरौ दोसरौ राज्यभाषा के श्रेणी मँ सूचीबद्ध करबाबै लेली नेपाली गीत-गोष्ठी आयोजित करतै कार्यक्रम

जामताड़ा : जिले भर में मनसा पूजा धूमधाम से मनाई गई है। हर तरफ पूजा को लेकर भारी चहल-पहल व्याप्त है। अंगवासी के साथ-साथ बंगलाभाषी भी इसे
काफी श्रद्धा के साथ मनाते हैं। गुरुवार को संजोत, शुक्रवार को उपवास के बाद शनिवार से पूजा शुरू हो गई। पूरे महीने चलनेवाले इस पर्व को लोग अलग-अलग
तिथियों में मनाते हैं। फल प्रसाद से मां की पूजा करने के बाद बकरे की बलि देने की प्रथा इस पर्व में है। मनसा पूजा को लेकर शनिवार को बाजार में आम दिनों
की अपेक्षा काफी कम भीड़ रही। ईद के कारण मुख्य बाजार में थोड़ी चहल पहल थी। जबकि मनसा पूजा करनेवाले लोग एवं दुकानदार भी बाजार से दूर रहे।

बिंदापाथर : क्षेत्र के प्रजापेटिया, बिंदापाथर, मूड़ायाम, पहाड़पुर आदि गांवों में प्रतिमा स्थापित कर मां मनसा की पूजा अर्चना की गई।

मिहिजाम : शहर के वार्ड नंबर 15 में प्रतिमा स्थापित कर मां की पूजा की गई। शहर के अलावे ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस पूजा की धूम रही।

नाला : प्रखंड क्षेत्र के मोहजोड़ी, दुमदमी, पिंडारगड़िया, शहरपुर आदि गांवों में मनसा देवी की प्रतिमा स्थापित कर लोगों ने पूजा अर्चना की। कुंडहित : क्षेत्र के केवट
टोला, सराकपाड़ा, भांगाहीड़, वनकाटी, भूईयापाड़ा, पालाजोड़ी, अंबा, बागडेहरी आदि गांवों में लोगों ने श्रद्धापूर्वक मां मनसा की पूजा अर्चना की।

Comments are closed.

error: Content is protected !!