भागलपुर। प्राध्यापकऽ के कमी के चलतं॑ तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय  न॑ व्यावसायिक आरू स्नातक कोर्स लेली नया सत्र म॑ नामांकन प॑ रोक लगाय देन॑ छै ।  तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय केरऽ कुलपति, डॉ. नलिनी कांत झा केरऽ अनुसार शिक्षकऽ के कमी छै । छात्र सिनी क॑ बेहतर शिक्षा नय दिअ॑ पारी रहलऽ छियै । नयऽ सत्र म॑ नामांकन तभिये लेलऽ जैतै जब॑ शिक्षकऽ के कमी दूर होय जैतै ।

विश्वविद्यालय म॑ अनेकों व्यावसायिक कोर्स के पढ़ाई लेली प्राध्यापकऽ के कमी छै । कोर्ट न॑ विवि के संविदा प॑ नियुक्ति करै प॑ रोक लगाय रखल॑ छै । वहीं विवि लगातार राजभवन स॑ प्राध्यापकऽ के मांग करी रहलऽ छै । लेकिन पर्याप्त संख्या म॑ विवि क॑ प्राध्यापक नै मिल॑ पारी रहलऽ छै । ई वजह स॑ समस्या बढ़ी गेलऽ छै ।

विवि म॑ कईएक कोर्स के पढ़ाय त॑ बरसों स॑ चली रहलऽ छै, लेकिन कहिय्यो पर्याप्त शिक्षक नै नियुक्त करलऽ गेलै । विवि म॑ पत्रकारिता विभाग, पुस्तकालय, मैथिली समेत बहुत कोर्स ऐसनऽ चली रहलऽ छै,जहां नाम मात्र के शिक्षक छै। अंगिका विभाग म॑ त॑ मात्र एगो शिक्षक प्रो. मधुसूदन झा छै जे ई दिना विवि म॑ डीएसडब्ल्यू के काम देखी रहलऽ छै, ऐसनऽ म॑ कोर्स म॑ दाखिला लेलऽ छात्रऽ सिनी के कक्षा नै होय पाबी रहलऽ छै । वहीं पत्रकारिता विभाग खोली त॑ देलऽ गेलऽ छै लेकिन यहां एक भी अनुभवी शिक्षक ई विषय के नै छै ।

कुलपति द्वारा राजभवन स॑ लगातार शिक्षकऽ के मांग करी रहलऽ छै, लेकिन निकट भविष्य म॑ माँग पूरा होत॑ नै दिखी रहलऽ छै । ई लेली विवि प्रबंधन ऐसनऽ कड़ा फैसला लै लेली मजबूर होय गेलऽ छै ।

 

Comments are closed.

error: Content is protected !!