2 months ago
उधाडीह गाँव मँ मनैलौ गेलै शौर्य चक्रधारी अंग गौरव शहीद निलेश कुमार नयन केरौ शहादत दिवस | New in Angika
2 months ago
गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड मँ जग्घौ बनाबै लेली आय 122 भाषा के गाना कार्यक्रम मँ अंगिका मँ भी गैतै पुणे केरौ मंजुश्री ओक | News in Angika
2 months ago
अंगिका भाषा क आठमौ अनुसूची मँ दर्ज कराबै लेली दिसम्बर मँ दिल्ली मँ होय वाला आन्‍दोलन क सफल बनाबै के करलौ गेलै आह्वान | News in Angika
2 months ago
अंगिका आरू हिन्दी केरौ वरिष्ठ कवि व गीतकार, कविरत्न महेन्द्र प्र.”निशाकर” “दिनकर सम्मान” सँ सम्मानित  | News in Angika Angika
3 months ago
चाँद पर विक्रम लैंडर के ठेकानौ के लगलै पता, पर अखनी नै हुअय सकलौ छै संपर्क | ISRO found Vikram on surface of moon, yet to communicate | Chandrayaan 2 | News in Angika

शिक्षक पात्रता परीक्षा में भोजपुरी , मगही , अंगिका भाषा से पास उम्मीदवारों का रिजल्ट रद्दे करने के शिक्षा मंत्री के बयान के बाद चारों तरफ से कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की जा रही है. लेकिन इस पूरे मामले का सबसे दिलचस्प पहलू यह है कि राज्य के किस जिले में कौन सी क्षेत्रीय भाषा होगी यह झारखंड सरकार ने ही तय कर रखी है. शिक्षक नियुक्ति नियमावली में इसका जिक्र है.

angpradesh_map

सरकार द्वारा इन भाषाओं को शिक्षक पात्रता परीक्षा में शामिल करने की अनुमति दी गयी है. इसके बाद इन भाषाओं को क्षेत्रीय भाषा के रूप में शिक्षक पात्रता परीक्षा में शामिल किया गया है.  ऐसे में शिक्षा मंत्री का बयान समझ से परे है.  हालांकि पूर्व में भी मंत्री ने इस तरह के कई बयान दिये हैं.

गौरतलब है कि क्षेत्रीय भाषाओं को परीक्षा में शामिल करने में झारखंड एकेडमिक काउंसिल की कोई भूमिका नहीं है. परीक्षा को लेकर सभी निर्देश मानव संसाधन विकास विभाग द्वारा दिया गया है. शिक्षा विभाग के निर्देश के अनुरूप ही झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने इन भाषाओं को परीक्षा में शामिल किया है. इससे पूर्व वर्ष 2010 में हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा में भी क्षेत्रीय भाषा के रूप में इनको परीक्षा में शामिल किया गया था.

इधर शिक्षक पात्रता परीक्षा में अंगिका भाषा में 7855 ,भोजपुरी भाषा में 4,148 और मगही भाषा में 8846 परीक्षार्थी सफल हुए हैं.अंगिका भाषा में कक्षा एक से पांच तक की परीक्षा में 2371 व छह से आठ तक में 35484 परीक्षार्थी,  भोजपुरी भाषा में कक्षा एक से पांच तक की परीक्षा में 618 व छह से आठ तक में 3,530 परीक्षार्थी ,   मगही भाषा में कक्षा एक से पांच तक की परीक्षा में 3257 व छह से आठ तक में 5589 परीक्षार्थी परीक्षा में सफल हुए हैं. भोजपुरी  मगही, अंगिका के अलावा बांगला व ओड़िया को भी क्षेत्रीय भाषा के रूप में मान्यता दी गयी थी.

सफल विद्यार्थीयों की संख्या :

भाषा         एक से पांच    छह से आठ

बांग्ला        1996        3203

ओड़िया        241        373

मगही        3257        5589

भोजपुरी        618        3530

अंगिका        2371        5484

– जिलावार भाषा

* मगही : लातेहार, पलामू, गढ़वा

* भोजपुरी : लातेहार, पलामू, गढ़वा

* अंगिका  : देवघर, गोड्डा, पाकुड़, साहेबगंज, जामताड़ा, दुमका

* बांग्ला : रांची, खूंटी, दुमका, जामताड़ा, साहेबगंज, पाकुड़, सरायकेला-खरसावां

* ओड़िया : प. सिंहभूम, पूर्वी सिंहभूम, सरायकेला-खरसावां

(Source: http://www.prabhatkhabar.com/news/55981-Education-Minister-Geetasri-Oram-Tate-Bhojpuri-candidate-canceled-Result-language-party-meeting.html)

Comments are closed.

error: Content is protected !!