2 months ago
COVID-19 : बाहर सँ लानलौ तरकारी व समान के उपयोग के सुरक्षित तरीका की छेकै ?
3 months ago
अंगिका भाषा क संविधान केरौ ८मो अनुसूची आरू बिहार केरौ दोसरौ राज्यभाषा के श्रेणी मँ शामिल करबाबै ल मुख्यमंत्री, विधि मंत्री सँ माँग
3 months ago
जनगणना मँ अपनौ नामौ सथें मातृभाषा के कॉलम मँ अंगिका जरूर दर्ज करैइयै : अंगिका निवेदन पत्र, नेपाली गीत गोष्ठी
3 months ago
अंगिका क संविधान केरौ ८मो अनुसूची मँ डलबाबै आरू बिहार केरौ दोसरौ राजभाषा के रूपौ मँ मान्यता दिलाबै तलक जारी रहतै संघर्ष – प्रीतम विश्वकर्मा कवियाठ
3 months ago
अंगिका क संविधान केरौ ८ मो अनुसूची मँ आरू बिहार केरौ दोसरौ राज्यभाषा के श्रेणी मँ सूचीबद्ध करबाबै लेली नेपाली गीत-गोष्ठी आयोजित करतै कार्यक्रम

धनबाद : टेस्ट परीक्षा में भोजपुरी, मगही और अंगिका भाषा से पास अभ्यर्थियों की मान्यता रद करने संबंधी शिक्षा मंत्री गीताश्री उरांव की घोषणा के विरोध में सोमवार को यहां जनता मजदूर संघ की ओर से महा धरना दिया गया।

angika_bhojpuri_magahi

जमसं महामंत्री सह पूर्व मंत्री बच्चा सिंह ने कहा कि 25 हजार परीक्षार्थियों में 13 हजार भोजपुरी, मगही और अंगिका भाषा  से हैं जिसे रद्द करने का हक मुख्यमंत्री को भी नहीं है।राजनीतिक स्तर पर इसका जोरदार विरोध करेंगे। राज्य भर में घूम-घूम कर बताएंगे कि भोजपुरी, मगही और अंगिका भाषा  भाषा भाषियों की संख्या इतनी अधिक है कि इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

उपमेयर नीरज सिंह ने कहा कि राज्य गठन के तुरंत बाद डोमिसाइल का जिन्न बाहर निकला। अर्जुन मुंडा के शासन काल में सीएनटी एक्ट सामने आया जिससे आदिवासी ही सर्वाधिक प्रभावित हो रहे हैं। हेमंत सरकार ने अधिवास का मुद्दा उठाया जो केन्द्र सरकार के हस्तक्षेप से शांत हुआ। अब शिक्षा मंत्री गीताश्री उरांव ने टेस्ट परीक्षा में भोजपुरी, मगही और अंगिका के विरुद्ध बयान देकर नया विवाद खड़ा कर दिया है। वह खुद को स्थापित करने के लिए ऐसा बयान दे रही हैं। राज्य एक बार फिर चौराहे पर खड़ा हो गया है। अगर राज्य स्थापना दिवस पर टेस्ट परीक्षार्थियों को नियुक्ति पत्र नहीं दिया गया तो चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा।

धरना की अध्यक्षता योगेंद्र प्रताप सिंह कर रहे थे। संचालन दामोदर सिंह ने किया। मौके पर बीबी सिंह, राजा यादव, बलराम पांडेय, दीपक राय, शंकर चौहान, जेपी सिंह, सुधीर सिंह, अरविंद सिंह, ललन सिंह, सुग्रीव सिंह, अजीम खान, मनोज सिंह, विनय यादव आदि थे।

(Source: http://www.jagran.com/jharkhand/dhanbad-10827775.html)

Comments are closed.

error: Content is protected !!