भागलपुर  : केंद्र सरकार केरऽ महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट नमामि गंगे के तहत अब॑ गंगा नदी समेत आरो नदी सिनी के सौंदर्यीकरन के काम सुरू होय वाला छै । एक ओर गंगा घाटऽ के सौंदर्यीकरन लेली आरबी एसोसिएट कंपनी सर्वे क॑ अंजाम द॑ रहलऽ छै, वहीं वन विभाग भी गंगा तट आरो कोसी तट क॑ हरा-भरा करै के तैयारी सुरू करी देन॑ छै ।

जिला वन पदाधिकारी संजय कुमार सिन्हा न॑ बतैलकै कि भागलपुर जिला के गंगा तट आरो कोसी तट पर नमामि गंगे परियोजना के तहत बड़ा पैमाना प॑ पौधरोपन कार्यक्रम सुरू करलऽ जैतै । ई कार्यक्रम जुलाय स॑ सुरू होतै । हुनी कहलकै कि दू महीना पहले ई प्रोजेक्ट के डीपीआर बनाय क॑ भेजलऽ गेलऽ छेलै ।

कईएक दौर के चर्चा के बाद अब॑ डीपीआर पर सहमति बनी गेलऽ छै । देहरादून के टीम  भागलपुर प्रक्षेत्र के जांच करी क॑ लौटी गेलऽ छै । अब॑ सिर्फ डीपीआर प॑ देहरादून वन संस्थान के निदेशक के मुहर लगना बाकी छै ।

गंगा तट केरऽ दूनो साइड पांच आरो कोसी तट के दूनों साइड दू किलोमीटर तक होतै हरियाली

जिला वन पदाधिकारी न॑ बतैलकै कि नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत गंगा नदी केरऽ सुलतानगंज स॑ कहलगांव तक के क्षेत्र म॑ गंगा नदी के दूनो तटऽ के पांच-पांच किलोमीटर तक घना पेड़ लगैलऽ जाना छै ।  जिले के कोसी नदी के भाग म॑ भी दूनो साइड के तटऽ के दू-दू किलोमीटर तक पेड़ लगैलऽ जैतै ।  सुलतानगंज स॑ कहलगांव तलक नदी केरऽ तट के अलावा कृसि भूमि, सरकारी भूमि, सड़क किनारा, केनाल व नाला आदि के किनारा-किनारा यानी जहां भी जगह खाली मिलतै लगैलऽ जैतै ।

नवगछिया केरऽ कदवा इलाका म॑ कोसी नदी के तट पर ऐन्हे तरह के पेड़ लगाबै  के योजना छै । इ क्षेत्र मं॑ बड़ा पैमाना पर विदेशी पक्षी व अन्य प्रकार के चिड़ियां आबै छै ।

 जय प्रकाश उद्यान के भी होतै सौंदर्यीकरन

जिला वन पदाधिकारी न॑ बतैलकै कि नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत शहर के बीचो-बीच स्थित जय प्रकाश उद्यान, जे सहरवासियऽ के दिल के धड़कन बनी चुकलऽ छै, इ पार्क क॑ भी विकसित करलऽ जैतै । एकरा लेली अलग स॑ डीपीआर बनाय क॑ भेजलऽ गेलऽ छै । जय प्रकाश उद्यान क॑ रास्ट्रीय स्तर के बनाबै लेली पेड़ लगैला के साथ-साथ पार्क के सौंदर्यीकरन के भी काम करलऽ जैतै ।

Comments are closed.