पटना, 15 नवंबर. अंगिका आरू हिंदी केरऽ वरिष्ठ साहित्यकार, आरू अंगिका भाषा केरऽ 46 साल स॑ निरंतर प्रकाशित होय रहलऽ मासिक पत्रिका केरऽ संपादक डॉ. नरेश पांडेय चकोर केरऽ पार्थिव-शरीर रविवार क॑ पंचतत्व म॑ विलीन होय गेलै.  हुनकऽ अंतिम संस्कार पटना केरऽ गुलबी घाट पर करलऽ गेलै. हुनकऽ ज्येष्ठ पुत्र शशि शेखर न॑ मुखाग्नि देलकै. इ अवसर पर बड़ी भारी संख्या म॑ साहित्यकार आरू डॉ. चकोर केरऽ शोकाकुल परिजन उपस्थित रहै. एकरऽ पूर्व दोपहर एक बजे कदमकुआं स्थित साहित्य सम्मेलन म॑ हुनकऽ पार्थिव शरीर क॑ अंतिम दर्शन लेली लानलऽ गेलै.

Naresh Pandey Chakor

अंगिका पुरोधा डॉ. नरेश पाण्डेय चकोर

यहाँ सम्मेलन अध्यक्ष डा. अनिल सुलभ, प्रधानमंत्री आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव, वरिष्ठ साहित्यकार डा. शिववंश पांडेय, बलभद्र कल्याण, उपाध्यक्ष नृपेंद्रनाथ गुप्त, पं शिवदत्त मिश्र, डा. मेहता नगेंद्र सिंह, कवि योगेंद्र प्रसाद मिश्र, डा. कल्याणी कुसुम सिंह, अधिवक्ता पंडितजी पांडेय, आचार्य आनंद किशोर शास्त्री, डॉ. वासुकीनाथ झा, बच्चा ठाकुर, घमंडी राम, आरएन मिश्र, शंकर शरण मधुकर, जगदीश राय, डा. नागेशवर यादव, प्रो. अरुण सिन्हा, विश्वमोहन चौधरी संत, डा. चकोर केरऽ पुत्र शशि शेखर, विधु शेखर आरू इंदु शेखर , कवि आर प्रवेश आदि न॑ माल्यार्पण करलकै.

शोकसभा में डॉ. अनिल सुलभ न॑ डा. चकोर क॑ अंगिका केरऽ अद्वितीय भक्त बतैलकै. भाषा-भारती संवाद केरऽ प्रधान संपादक नृपेंद्र नाथ गुप्त न॑ कहलकै कि चकोर के निधन स॑ हुनकऽ दैना हाथ खतम भ॑ गेलै. बिहार अंगिका अकादमी केरऽ ओर स॑ अध्यक्ष डा. लखन लाल सिंह आरोही, भाषा भारती केरऽ ओर स॑ प्रो सुखित वर्मा, डा. शाहिद अमील, डा. शिव नारायण, कृष्ण कन्हैया न॑ भी शोक व्यक्त करलकै.

अंगिका भाषा आंदोलन केरऽ जनक आरू अंगिका भाषा साहित्य केरऽ लब्ध प्रतिष्ठ साहित्यकार आरू पत्रकार , डॉ नरेश पाण्डेय चकोर केरऽ निधन 78 वर्ष केरऽ आयु म॑ पटना मं॑ 14 नवंबर-2015, शनिवार क॑ सांयकाल के वक्त हृदय-गति रूकी गेला स॑ होय गेलै. हुनकऽ निधन स॑ बिहार, झारखंड आरू प. बंगाल केरऽ अंगिका भाषा साहित्य समाज गहरऽ शोक मं॑ डूबी गेलऽ छै.

सर्वप्रथम अंगिका.कॉम क॑ फोन पर डॉ. चकोर केरऽ निधन केरऽ जानकारी देतं॑ बिहारअंगिका अकादमी केरऽ अध्यक्ष डॉ. लखन लाल सिंह आरोही न॑ एकरा अंगिका भाषा आरू साहित्य लेली अपूरणीय क्षति बतैनै छै. डॉ. आरोही न॑ कहलकै कि डॉ. नरेश पाण्डेय चकोर अंगिका भाषा साहित्य केरऽ ‘महावीर प्रसाद द्विवेदी’ छेलै.

अंगिका.कॉम केरऽ कुंदन अमिताभ न॑ डॉ. चकोर केरऽ निधन पर गहरा शोक व्यक्त करतं॑ एकरा अंगिका भाषा आरू साहित्य लेली एगऽ बहुत बड़ऽ क्षति बतैन॑ छै. कुंदन अमिताभ न॑ डॉ. चकोर क॑ अंगिका केरऽ युगांतरकारी योद्धा बतैतें कहलकै कि हुनी अंगिका केरऽ महानतम सेवक भी रहै. अंगिका केरऽ कवि सुधीर प्रोगामर न॑ डॉ. चकोर केरऽ निधन पर गहरऽ संवेदना व्यक्त करन॑ छै.

डॉ. चकोर केरऽ निधन पर बगुला मंच भागलपुर मं॑ आयोजित शोक सभा मं॑ अंगिका केरऽ साहित्यकार, डा. अमरेंद्र, राजकुमार, रामवतार राही, धीरज पंडित, रंजन तथा अंगिका प्रचारिणी सभा, भागलपुर आरू अंग उत्थानोंदलन समिति न॑ भी आपनऽ गहरऽ संवेदना व्यक्त करन॑ छै.

Comments are closed.